राज्य मंत्री : देश में हर किसी के लिए योजना बनी मगर देश की मुख्य धारा के दो लोगो के लिए योजना नही बनी….

0
290

बुन्देलखंड में झांसी के राजकीय संग्राहालय में रामेश्वरम संस्थान के तत्वाधान में सम्मान समारोह हुआ। जिसमें झांसी से प्रसार भारती अकाशवाणी दूरदर्शन के विकास कुमार शर्मा, समेत कई पत्रकारों को रामेश्वरम हिन्दी पत्रकारिता से सम्मानित करते हुए प्रमाण पत्र और शॉल प्रदान कर सम्मानित किया गया। इसके बाद सभी ने अपने-अपने विचार व्यक्त किये। 

झांसी के राजकीय संग्राहालय में रामेश्वरम संस्थान के तत्वाधान में रामेश्वरम हिन्दी पत्रकारिता सम्मान समारोह हुआ। जिसमें अखलेंदु अड़जरिया की मुख्य अतिथ्यि, वरिष्ठ पत्रकार कैलाश चंद्र जैन, राज्यमंत्री हरगोविंद कुशवाहा, पूर्व एमएलसी श्याम सुंदर सिंह, सुधांशू त्रिपाठी, धर्माचार्य विष्णु दत्त स्वामी, समाजसेवी संजय सिंह, कांग्रेसी नेता अरविन्द वशिष्ठ, राहुल रिछारिया राजेन्द्र सिंह यादव, किसान नेता गौरी शंकर बिदुआ, वरिष्ठ पत्रकार मोहन नेपाली, सम्पादक दीपक चंदेल मौजूद रहे। 

सम्मान समारोह में दैनिक जागरण लखनऊ सम्पादक राजनारायण मिश्रा उर्फ राजू, प्रसार भारती अकाशवाणी/ दूरदर्शन, के विकास कुमार शर्मा, हिन्दी दैनिक अखबार अमर उजाला झांसी से मुकेश साहू और सुनील सुल्लेरे, हिन्दुस्तान न्यूज पेपर से दिवाकर पांडे, जनता यूनियन से बृजेन्द्र चतुर्वेदी, विश्व परिवार से भूपेन्द्र रायकवार, भारत समाचार टीवी न्यूज से एसएस झॉ, कुलदीप अवस्थी, व छायाकार में आजतक न्यूज चैनल के अजय झा को सम्मानित किया गया।  

इस मौके पर प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री दर्जा प्राप्त हरगुविन्द कुशवाहा ने कहा देश में हर किसी के लिए योजना बनी मगर देश की मुख्य धारा के दो लोगो के लिए योजना नही बनी पहली राष्टय के चौथे स्थम्ब पत्रकारों के लिए और अन्यदाता किसानों के लिए ये अत्यन्त विचारनीय बिषय है, मुख्य अतिथि अखलेंदु ने कहा कि पत्रकारिता एक सच का आयना है। जिसे हम सब दिखाते है और जनता उस पर विश्वास करती है। आज के दौर में पत्रकार असुरक्षित महसूस करता है। क्योंकि जिसके वह जिसके खिलाफ लिखता या फिर दिखाता है तो उसका विरोधी हो जाता है। सरकारें में भी आज के पत्रकारों के लिए कोई खास योजनायें नहीं चला रही है। जिससे उन्हें लाभ मिल सके। सर्दी हो या बरसात पत्रकार अपनी जान जोखिम में डालकर खबरों को निकालकर लाता है। इसलिए सभी को पत्रकारों का सम्मान करना चाहिए। इतना ही सरकार को भी चाहिए कि शासन व प्रशासन पत्रकारों को सम्मान और सुरक्षा दे। जिससे वह निष्पक्ष होकर अपनी पत्रकारिता कर सके। 

NO COMMENTS