महिलाओं ने शराब के विरोध में खोला नया मोर्चा हुआ जमकर बवाल, आबकारी और प्रशासनिक अफसरों के खिलाफ हुई नारेबाजी

0
88

झाँसी। एक बार फिर से बुंदेलखंड की महिलाओं ने सार्वजनिक स्थलों पर खोली गई शराब की दुकानों के विरोध में नया मोर्चा खोल दिया है। रविवार को बीवीआईपी चौराहा की महिलाओं ने शराब की दुकान पर जाकर जमकर हंगामा किया। दुकान के अंदर रखा सारा सामान बाहर फेंक दिया। इसी बीच आबकारी और प्रशासनिक अफसरों के खिलाफ नारेबाजी की। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने हंगामा कर रही महिलाओं को शांत कर दिया। महिलाओं का कहना है कि इसी तरह अन्य स्थानों पर शराब की दुकानें खोली गई तो उसका कड़ा विरोध किया जाएगा। इसके लिए सूची तैयार की जा रही है।
नवाबाद थाना क्षेत्र के इलाहाबाद बैंक चौराहा के लिए देशी शराब का ठेका आवंटित किया गया था। यह शराब का ठेका पूर्व विधायक की जमीन में खोला गया था। इसकी जानकारी लगते ही आस पास क्षेत्र को लोग इकट्ठा होना शुरु हो गए थे। कुछ दिनों पहले उत्तर प्रदेश महिला कांग्रेस कमेटी के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष सरोज त्रिपाठी के नेतृत्व में जिलाधिकारी और आबकारी अधिकारी को ज्ञापन देकर उक्त दुकान को हटाने की मांग की थी। इसके लिए समय मांगा गया था मगर समय पूरा हो चुका था।
रविवार को दोपहर के समय इलाहाबाद बैंक चौराहा के पास रहने वाली महिलाएं इकट्ठा हो गई। सभी महिलाओं ने देशी शराब की दुकान पर जाकर हंगामा किया। दुकान का ताला तोड़कर अंदर रखा सामान निकालकर बाहर फेंक दिया। गोदाम में रखी शराब की पेटियों को उठाकर बाहर रख दिया। इसकी जानकारी लगते ही दुकान का नौकर वहां पहुंचा तो हंगामा कर रही महिलाओं ने धमकी देना शुरु की। इस पर नौकर ने कहा कि दुकान संचालक को बुला रहा हैं।
महिलाओं का कहना है कि नियमों को ताक पर रखकर जिला आबकारी अधिकारी ने इलाहाबाद बैंक चौराहे पर देशी शराब की दुकान खुलवाई है। इलाहाबाद बैंक चौराहे पर काफी संख्या में स्कूल और चर्च हैं। वहीं सौ मीटर की दूरी पर कैंट क्षेत्र भी लगा हुआ है। शाम के समय लड़कियां और महिलाएं घूमने के लिए निकलती हैं। महिलाओं ने कहा कि कुछ भी हो जाए वह घनी बस्ती में शराब की दुकान नहीं खुलने देंगी। महिलाओं ने कहा कि उनके बच्चे स्कूल से छूटने के बाद यहां से गुजरते हैं। जब वह लोगों को खुले आम शराब पीते देखेंगे तो उनके बुरा असर पड़ेगा। महिलाओं ने इस दुकान को अन्यत्र स्थानांतरित करने की मांग की है। इसी दौरान महिलाओं ने प्रशासनिक और आबकारी विभाग के अफसरों के खिलाफ नारेबाजी की। सूचना मिलते ही यूपी 100 डॉयल की गाड़ी मौके पर पहुंची और हंगामा कर रही महिलाओं से वार्तालाप की। पुलिस ने हंगामा कर रही महिला व पुरुषों से बातचीत की। इसके बाद सभी लोग शांत हो गए। मौके पर सरोज त्रिपाठी, विशाल ठाकुर, प्रशांत शर्मा, शहनाज खान, के के गुप्ता, गफ्फार खान, सुरेश चंद्र साहू, योजना साहू आदि लोग शामिल थे।

अवैध रुप से जल रही थी बिजली
प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि जिस व्यक्ति ने शराब की दुकान खोली है, उसने एक किराना की दुकान से चोरी से बिजली जला रहा था। दुकानदार ने मना किया तो उसे धमकी जा रही थी।

NO COMMENTS