जिलाधिकारी के गोद लिए गांव का आंकाक्षा समिति अध्यक्षा ने किया निरीक्षण, देखीं व्यवस्थाएं

0
9
झाँसी:- जिलाधिकारी द्वारा गोद लिए गए गांव के आंगनबाड़ी केन्द्र की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने पहुंची जिला आकांक्षा समिति अध्यक्षा श्रीमती संध्या चैहान ने बच्चों की माताओं को सुझाव देते हुए कहा कि 0 से 5 वर्ष के बच्चों का समय से टीकाकरण कराएं ताकि उन्हें जानलेवा बीमारियों से सुरक्षित किया जा सके।
उन्होंने कहा कि पर्यावरण को स्वच्छ, साफ सुन्दर रखकर बच्चों में स्वच्छता की आदल डालें जिससे बीमारियां उनसे दूर रहें। विकास खण्ड चिरगांव के ग्राम करगुवां में पीएचएनडी के मौके पर  उपस्थित माताओं को सुझाव दिया कि सर्दी शुरू हो गयी है इसलिए बच्चों के पहनने वाले कपड़ों को साफ सुथरा रखकर धूप अवश्य दिखाएं जिससे कि उन्हें सर्दी जुकाम से बचाया जा सके। इस दौरान उन्होंने बच्चों के टीकाकरण के सम्बंध में एएनएम से जानकारी ली तथा हैल्थ कार्ड का सत्यापन करते हुए बच्चों का नियमित वजन लिये जाने की बात कही।
जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती करूणा जायसवाल ने बताया कि ग्राम में 5 वर्ष तक के 340 बच्चे हैं जिसमें 222 सामान्य श्रेणी, 78 कुपोषित तथा 49 बच्चे अतिकुपोषित श्रेणी में है। ग्राम में 54 गर्भवती महिलायें जिन पर लगतार नजर रखी जा रही है कोई भी हाई रिस्क श्रेणी में शामिल नहीं है। आज बीएचएनडी है सभी चिन्हित बच्चों का टीकाकरण के साथ पोष्टिक पंजीरी का वितरण किया जा रहा है। इस अवसर पर श्रीमती चैहान ने उपस्थित बच्चों को पुष्टाहार भोजन में गर्म हलुआ तथा बिस्कुट आदि का वितरण किया।

इसके साथ ही श्रीमती संध्या चैहान ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय का भी निरीक्षण किया तथा प्रश्नोत्तरी कर बच्चों के शिक्षा स्तर की जानकारी लेते हुए बच्चों को गुणात्मक शिक्षा देने का सुझाव दिया। इस दौरान उन्होंने निशुल्क पाठय पुस्तक, स्कूल बैग तथा निशुल्क यूनीफार्म वितरण की जानकारी ली। मध्याहन भोजन को स्वंय चखकर गुणवत्ता की जांच करते हुए रसोई की सफाई व्यवस्था का निरीक्षण कर बच्चों को भोजन परोसा। निरीक्षण के दौरान ग्राम प्रधान अमित कुमार राजपूत ने बताया कि गांव में हो रहे शौचालय निर्माण में बालू की कमी के कारण कार्य पूर्ण नहीं हो पा रहा है। इस मौके पर नायब तहसीलदान सुनील कुमार, सचिव अशोक कुमार मौर्य, लेखपाल अरविन्द कुमार, एएनएम श्रीमती वंदना सहित सुपरवाइजर तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां उपस्थित रहीं।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY