40 गांव सत्याग्रह आन्दोलन शुरू कर होली त्योहार का बहिष्कार करेंगे

0
193

जनसमस्याओं को लेकर प्रदर्शन और राष्ट्रीय राजमार्ग अवरुद्ध करने वाले चिंगारी संगठन के खिलाफ जिला प्रशासन द्वारा गम्भीर धारा में दर्ज किये गये मुकदमों से ग्रामीणों में आक्रोश है। मुख्यमन्त्री को शिकायती पत्र भेजकर उन्होंने कहा कि दो दिन के अन्दर किसानों पर दर्जन मुकदमें वापस नहीं हुये तो 40 गांव सत्याग्रह आन्दोलन शुरू कर होली त्योहार का बहिष्कार करेंगे।

चिंगारी संगठन की संयोजिका तनुजा श्रीवास्तव व विद्या धाम समिति के महामन्त्री राजाभइया ने संयुक्त रूप से सूबे की मुखिया को शिकायती पत्र भेजा है। उनका कहना है कि 7 मार्च से शुरू हुयी पद यात्रा में 70 किमी. दूरी कर 10 मार्च को सैकड़ों किसानों ने डीएम के सामने अपनी मांगें रखी थी। यह उनके द्वारा इसलिए किया गया था क्योंकि स्थानीय प्रशासन उनकी उपेक्षा कर रहा था। लिखा है कि जब जिलाधिकारी द्वारा सन्तोष जनक उत्तर नहीं मिला तो हम लोग वाह लौट रहे थे। इसी समय उनका वाहन प्रवर्तन दल द्वारा बन्द कर दिया गया। जिसके विरोध में आक्रोशित कार्यकर्ता सड़कों पर लेट गये। इस पर आक्रोशित प्रशासन ने 125 किसानों के विरुद्ध धारा 141, 142, 143, 283, 341, 353 व 7 क्रिमिनल एक्ट जैसी गम्भीर धाराओं में मुकदमा पञ्जी—त कर लिया। उन्होंने कहा कि यदि 15 मार्च तक उनके ऊपर दर्ज मुकदमें वापस नहीं होते तो 16 से नरैनी क्षेत्र के 40 गांवों में सत्याग्रह प्रारम्भ करेंगे। यही नहीं होली के त्योहार का बहिष्कार करते हुए उस दिन धिक्कार दिवस मनाया जायेगा।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com