सूखा राहत कार्य चलाने के निर्देश दिये

0
244

चित्रकूट- जिलाधिकारी ने जिले में सूखे के भयावह स्थिति से निपटने के लिए युद्ध स्तर पर सूखा राहत कार्य चलाने के निर्देश दिये है। उन्होंने वृद्ध, अक्षम, निराश्रित लोगों के लिए सुबह शाम भोजन व्यवस्था सुनिश्चित कराने को कहा है।

कलेक्ट्रेट सभागार में सूखे की स्थिति से निपटने को बुलाई गई बैठक में जिलाधिकारी हृदेश कुमार ने कहा कि सभी विभाग सूखा राहत कार्यो का विवरण उपलब्ध करायें। जिसमें उप कृषि निदेशक प्रसार ने बताया कि भरतकूप व मानिकपुर क्षेत्र में पानी कम बरसने के कारण फसल सूख रही है। इस पर डीएम ने एडीएम को निर्देश दिये कि सूखा ग्रस्त क्षेत्रों को चिह्नित करे। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने जानकारी दी कि पशुओं के चारा को दस स्थानों में शिविर लगाने के लिए चिह्नित किये गये है। जिसमें मानिकपुर व भरतकूप में शिविर संचालित कर शेष स्थानों पर भूसा डंप कराया जा रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि वृद्ध, अक्षम व निराश्रितों को खाद्यान्न व मिड डे मील में भोजन की व्यवस्था करा दी जाये। इसके लिए स्कूलों को चिह्नित कर दिया जाये। जहां ऐसे लोग है वहां निरंतर उन्हे भोजन दिया जाये और सायंकाल भी उन्हे भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये। उन्होंने कहा पशुओं के कैंपों में पेयजल की समुचित व्यवस्था करे और टीकाकरण का रोस्टर बना लें। उन्होंने बताया कि 18 अगस्त को केंद्रीय समिति जिले में आ रही है। समिति के अध्यक्ष संयुक्त सचिव राजीव गुप्ता जिले के सूखा ग्रस्त क्षेत्रों का भ्रमण कर निरीक्षण करेंगे। बैठक में अधिशासी अभियंता जल निगम ने बताया कि सूखा ग्रस्त क्षेत्र में पेयजल की व्यवस्था की जा रही है। सभी ब्लाकों में एक-एक टैकर उपलब्ध कराये गये है और सूखा ग्रस्त क्षेत्र में भारी तादाद में हैडपंपों के बोर किये जा रहे है।