सामाजिक संगठनों का`चित्रकूट घोशणा पत्र´

0
261

02उ0प्र0 में पंचायत राज्य सम्बन्धी कार्यशालों व जन सुनवाईयों से उपलब्ध हुई जानकारी को प्रदेश की विभिनन्न सामाजिक संगठनों तथा मीडिया को रूबरू कराने के उद्देश्य से इंस्टीच्यूट ऑफ सोशल साईसिस व एसोसिएशन ऑफ लोकल गवनेZस ऑफ इण्डिया एवं अखिल भारतीय समाज सेवा संस्थान के तत्वाधान में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में वरिश्ठ पत्रकार भारत डोगरा तथा भागवत प्रसाद ने कार्यशालों में एकत्र हुए आंकड़ों को पेश करने हुऐ कहा पंचायत राज के सुधार संबधी चर्चा के लिए यह बहुत अनुकुल वक्त है क्योंकि यह सुधार चुनाव-प्रक्रिया से ही प्रारम्भ हो जाना चाहिए। पंचायत राज के महत्व से किसी को इंकार नही, इसमें लोकतन्त्र को मजबूत करने की अमूल्य सम्भावना है पर क्या हम वास्तव में इन संभावनाओं को प्राप्त कर सके हैंर्षोर्षो पंचायज राज की हकीकत क्या हैर्षोर्षो इन सवालों के उचित जवाब पर ही पंचायत राज का सुधार-कार्य आधारित होगा सही उत्तर प्राप्त करना, सही समझ बनाना जरूरी है। इस उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए ही जुलाई से सितम्बर के बीच उत्तर प्रदेश के विभिन्न भागों में पंचायत राज पर पांच कार्यशालाअोंं व दो जन-सुनवाईयों का आयोजन किया गया। इन कार्यशालाओें व जन-सुनवाईयों का आयोजन दिल्ली में पंचायत राज की सफलता के लिए प्रयासरत दो संस्थाओं ने किया जिनके नाम है-इंस्टीच्यूट ऑफ सोशल साईसिस व एसोसिएशन ऑफ लोकल गवनेZस ऑफ इण्डिया। इस प्रयास की सफलता में बड़ी भूमिका स्थानीय सहयोगी संस्थाओं की थी अखिल भारतीय समाज सेवा संस्थान (चित्रकूट), गोरखपुर एन्वायरमेन्टल एक्शन ग्रुप (गोरखपुर) इंस्टीच्यूट ऑफ गांधीयन ट्रस्ट (वाराणसी) व दिशा (सहारनपुर) व कार्यशालाओं व जनसुनवाईयों में मुख्य रूप से पंचायतों के निर्वाचित प्रतिनिधियों व पंचायत राज पर कार्य कर रहे सामाजिक कार्यकर्ताओं की भागीदारी रही।

चित्रकूट में आयोजित कार्यशाला में लगभग 120 निर्वाचित प्रतिनिधियों व सामाजिक कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में सर्वसम्मति से पंचायत राज पर घोशणा पत्र जारी किया गया जिसे `चित्रकूट घोशणा पत्र´ कहा गया। अन्य कार्यशालाओं में भी इस घोशणा पत्र को समर्थन मिला। यह एक महत्वपूर्ण उपलब्धि रही कि पंचायतों में भ्रश्टाचार व कमीशनबाजी समाप्त करने, पारदशीZ व्यवस्था बनाने व अन्य विवादास्पद मुद्दों पर एकमत से घोशणा पत्र जारी हो सका। इसे व कार्यशालाओं व सुनवाईयों की रिपोर्ट को हिन्दी में सही राह पर कैसे आये पंचायत राज शीशZक से जारी किया गया। कार्यशाला में अखिलभारतीय सेवा संस्थान के संस्थापक गोपाल भाई ने पंचायत चुनाव में आम आदमी को जागरूक करने के उद्देश्य से विभिन्न शीशZक युक्त सात पोस्टर जारी किये। इन पोस्टरों के जरिये पंचायत चुनाव मतदाता जागरूकता अभियान की शुरूआत की गई। इस अवसर पर विचार व्यक्त करते हुये कहा कि नौकर शाही चर रही जनता का धन आज, केवल सजग-प्रधान ही राखे सबकी लाज, रमुआ खड़ा बिसूरता किसको दू मैं वोट, बढ़ चढ़ कर सब लूटते बची न एकौ ओट। कार्यशाला मेें बुन्देलखण्ड के सेवा संस्थान के वासुदेव, लोकमित्र रायबरेली के अमृत लाल, अग्निवेद समग्रविकास समिति के अनिल चन्द, डा0 राजेश वर्मा, राजीव रंजन झॉ, के.एन. तिवारी, अवनीश कल्कि सहित अनेक लोगों ने भागीदारी की।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com

NO COMMENTS