सागर विवि में नया अकादमिक कैलेंडर लागू

0
126

सागर डॉ. हरीसिंह गौर केंद्रीय विश्वविद्यालय में नए शिक्षा शिक्षण 2007-08 से नया अकादमिक कैलेंडर लागू किया गया है।यह कैलेंडर विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नवीनतम पाठ्यक्रम पर आधारित है।

शनिवार को दोपहर 12 बजे विवि के वाडिया हॉल में अकादमिक कार्यक्रम समिति की बैठक में नए कैलेंडर की जानकारी सभी विभागाध्यक्षों एवं शिक्षकों को दी गई। बैठक में समिति के चेयरमेन प्रो. एमएस तिवारी एवं महाविद्यालयीन विकास परिषद के संचालक प्रो. केएस पित्रे भी थे।

प्रो. तिवारी ने बताया कि अब नए अकादमिक सत्र में दो सेमेस्टर होंगे। 16 जुलाई से 30 नवंबर के बीच प्रथम, तृतीय एवं पंचम सेमेस्टर रहेंगे। 16 दिसंबर से 30 अप्रैल तक दूसरा, चौथा और छठवां सेमेस्टर होगा। प्रत्येक सेमेस्टर के मध्य में दो मध्य सेमेस्टर होंगे। प्रत्येक सेमेस्टर लगभग 15 सप्ताह का होगा और प्रत्येक सप्ताह 30 घंटे शिक्षण कार्य होगा। 25 दिसंबर से 9 जनवरी तक शीतकालीन एवं 16 मई से 30 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश रहेगा।

विद्यार्थियों का रिजल्ट वर्तमान में प्रचलित अंकों के प्रतिशत की जगह ग्रेड प्रणाली के आधार पर बनाया जाएगा। ग्रेड प्रणाली को क्रेडिट प्रणाली एवं कोर विषयों, इलेक्टिव विषयों को मिलाकर तैयारी की जाएगी। कोर विषय में 54 क्रेडिट और इलेक्टिव विषय में न्यूनतम 18 क्रेडिट होंगे। उत्तरार्ध के पाठ्क्रमों में कोर कोर्स न्यूनतम 81 क्रेडिट का होगा। इलेक्टिव कोर्स 27 क्रेडिट का और सेल्फ स्टडी कोर्स 12 क्रेडिट का होगा।

उत्तरार्ध कक्षाओं के पाठ्यक्रम को चार सेमेस्टर में बांटा गया है। जिसे पास करने के लिए अधिकतम 8 सेमेस्टर निर्धारित किए गए हैं।

जनसंपर्क अधिकारी प्रो. एपी दुबे ने बताया कि नया अकादमिक कैलेंडर और परीक्षा प्रणाली पहली बार यहां लागू हो रही है, इसलिए विभागाध्यक्षों और शिक्षकों को इस बारे में विस्तृत जानकारी देने के लिए कार्यशाला आयोजित की जाएगी।

NO COMMENTS