सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया

0
230

भारतीय जनता पार्टी ने सपा सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया है। इस राज्य के किसान सर्वाधिक परेशान है। प्रदेश प्रवक्ता हरद्वार दुबे ने कहा कि युवा मुख्यमंत्री के राज्य में बुन्देलखण्ड का किसान आत्म हत्या पर मजबूर है। पूरे प्रदेश का किसान कही बाढ़ व कही सूखा से परेशान है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने तय किया है कि सरकार की किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ भाजपा किसानों इन समस्याओं को लेकर 8 अगस्त 2012 से   14 अगस्त 2012 तक जिला केन्द्रो पर धरना प्रर्दशन करेगी।

पार्टी मुख्यालय पर नियमित प्रेस ब्रीफिंग के दौरान श्री दुबे ने कहा कि उ0प्र0 के गन्ना किसानों का 1500 से 1800 सौ करोड़ रूपये बकाया है। मा0 सर्वोच्च न्यायालय, मा0 उच्च न्यायालय लगातार किसानो के बकाया राशि के भुगतान का निर्देश दे रही है परन्तु अभी तक कोई ठोस कार्यावही नही हो रही है। अप्रैल 2012 में मा0 सर्वोच्च न्यायालय ने किसानों के बकाया भुगतान के लिए तीन किस्त में भुगतान का निर्देश दिया था। अभी तक उ0प्र0 के गन्ना किसानो का 1500 सौ करोड़ रूपये बकाया है। परिस्थितियां यहां तक आ गई है कि एक तरफ किसान बकाया राशि के लिए परेशान है और दूसरी तरफ बैंको के कर्जे की वसूली के कारण आत्महत्या पर उतारू है।

श्री दुबे ने कहा कि आखिर भ्रष्टाचार के सवाल पर उ0प्र0 सरकार की कथनी व करनी में भेद क्यों है ? भ्रष्टाचार के खिलाफ सरकार की ढुलमुल रवैया के कारण एन.आर.एच.एम. के मामले पर धांधली के जिम्मेदार माने जाने वाले चिकित्सको पर आज की तारीख तक मुकदमा चलाने की अनुमति सरकार द्वारा नही दी गई। मनरेगा से लेकर यू.पी.एस.आई.डी.सी. तक के मामले जांच मुकदमे हेतु सरकारी आदेशों का इन्तजार कर रहे है।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
agnihotri1966@gmail.com
sa@upnewslive.com