श्रममन्त्री ने ली विकास कार्यो की बैठक

0
160

मौदहा (हमीरपुर) – प्रदेश सरकार के श्रममन्त्री बादशाह सिंह ने विकास कार्यो की समीक्षा ली। बैठक में जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे। जिलास्तरीय विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में अधिकारियों ने अपने विभागों की प्रगति आ2या प्रस्तुत की। मन्त्री ने कुछ जल निगम के अधिशाषी अभियन्ता से पेयजल योजनाओं की जानकारी चाही तभी वहां मौजूद जनप्रतिनिधियों ने किसी भी योजना के सही तरीके से न चलने की शिकायतें करना शुरु कर दिया। इस मामले में श्रममन्त्री ने पूछा कि दस साल पूर्व पानी देने के लिए भवई में नलकूप स्थापित किए गए। लेकिन आज तक इस योजना से सम्बंधित गांव में पानी नहीं पहुंचा है। सवाल किया कि अभी तक करहिया, इचौली पेयजल योजनाओं को कब चालू करेंगे।  श्रममन्त्री ने कहा कि मौदहा कसबे के लोग भी पेयजल से परेशान है।

मन्त्री ने निर्देशित किया कि गर्मी आने से पहले बन्द पड़ी योजनाओं को संचालित करें। लो.नि.वि. समाज कल्याण अधिकारी व बेसिक शिक्षाधिकारी को निर्देशित किया कि वह अपनी ज़िम्मेदारियों का निर्वाह गम्भीरता पूर्वक निष्ठा से करें। वहीं वन विभाग को वन चेतना केन्द्र स्थापित करने के प्रस्ताव तैयार करने को कहा। किसानों से जुड़ी समस्याओं की जानकारी उप कृषि निदेशक उमेश कटियार से ली। पावर कारपोरेशन के अधिशाषी अभियन्ता ओपी यादव से कहा कि निजी नलकूपों के मामले में वह लखनऊ आएं। कोटा बढ़वाए जाने का काम करेंगे। इस मौके पर कई विभागों ने योजनाओं की जानकारी दी। इसमें पीसीएफ के नए गोदाम की जानकारी दी गई। मन्त्री ने कहा कि इस बार मु2यमन्त्री ने बुन्देलखण्ड को 1200 करोड़ का बजट स्वीकृत किया है। कहा कि कार्यकर्ताओं की अनदेखी करने वालों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। समीक्षा बैठक में कांशीराम आवासीय योजना में धांधली की शिकायतें दी गई। अधिकारियों से कहा कि निष्पक्षता से काम करें।

इस मौके पर जिलाधिकारी जी श्रीनिवास, सीडीओ महेश चन्द्र यादव सहित जिलास्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।