शस्त्र लाइसेंस मात्र सत्ता के ,जरुरत मंद परेशान

0
202

शस्त्र रखने के शौकीन हर व्यक्ति की मुराद पूरी नहीं हो सकी है। पिछले पांच साल में साढ़े चार सौ लोगों को ही शस्त्र लाइसेंस निर्गत किए गए। जो लाइसेंस जारी हुए हैं, उनमें सबसे कम तीस इकनाली बंदूक के हैं। सर्वाधिक 229 लाइसेंस रिवाल्वर/ पिस्टल के जारी किए गए हैं।

जिला प्रशासन द्वारा अपनाई गई सख्ती के कारण तमाम शौकीन लोगों की शस्त्र रखने की उम्मीदों पर पिछले पांच साल में पानी फिरता नजर आया। इन पांच सालों में चार हजार लोगों ने आवेदन किए लेकिन लाइसेंस बने सिर्फ 458 सबसे कम लाइसेंस वर्ष 2007 में मात्र 19 बने, जबकि वर्ष 2010 में सबसे ज्यादा 226 लाइसेंस जिलाधिकारी द्वारा जारी किए गए। वर्ष 2008 में 74, 2009 में 85 शस्त्रों के लाइसेंस बने। वर्तमान वर्ष के छह माह में अब तक 54 लाइसेंस जारी किये जा चुके हैं।

इनने भी ज्यादातर सत्ता से लोगो के ही शस्त्र लाइसेंस बनाये गये है आम जरुरत मंद लोगो के हात मात्र निराशा ही लगी

Vikas Sharma
Editor
www.upnewslive.com ,
www.bundelkhandlive.com ,
E-mail : vikasupnews@gmail.com,
editor@bundelkhandlive.com
Ph- 09415060119