विश्व मंगल गो-ग्राम यात्रा मुख्यालय पहुंची

0
203

बांदा- कुरुक्षेत्र से चलकर नागपुर तक जाने वाली विश्व मंगल गो-ग्राम यात्रा शुक्रवार को मुख्यालय पहुंची। यात्रा के स्थानीय संयोजक और हिंदू संगठन के लोगों ने भूरागढ़ पहुंचकर यात्रा की अगवानी की। संकटमोचन मंदिर के पास यात्रा का भव्य स्वागत किया गया।

विजयादशमी के दिन शुरू कि गई विश्व मंगल गो-ग्राम यात्रा सुबह 10 बजे भूरागढ़ पहुंची यात्रा का इंतजार हिंदू संगठन के लोग करीब तीन दर्जन दो पहिया और चार पहिया वाहनों के साथ कर रहे थे। जैसे ही यात्रा भूरागढ़ पहुंची वैसे ही जयकारे के साथ यात्रा का स्वागत कर काफिला शहर की ओर रवाना हो गया। रथ के पीछे काफिले में चल रहे लोग गोमाता के जयकारे लगा रहे थे। विश्व हिंदू परिषद, मृत्युंजय मानस परिवार के लोगों ने रथ में विराजमान गोमाता की पूजा अर्चना की। करीब डेढ़ घंटे रुककर तिंदवारी के रास्ते को रवाना हो गये।

यात्रा को लेकर संकटमोचन मंदिर के पास जहीर क्लब मैदान में संतो का जमावड़ा लगा रहा। वहां अखिलेशानंद महाराज ने कहा कि गाय का वेद पुराणों में विशेष महत्व है। दूध से लेकर गाय से उत्पन्न प्रत्येक चीज जीवनदायिनी है। इसलिये गाय को माता का दर्जा दिया गया है। अब लगातार हो रही गाय की हत्या से गोवंश विलुप्त होने की कगार पर है इसलिये गाय को बचाना हिंदू धर्म का परम कर्तव्य है। उन्होंने लोगों का आवाहन किया कि वह गाय को राष्ट्रीय पशु का दर्जा दिलाने के लिये चलाये गये हस्ताक्षर अभियान पर सहयोग करें। सम्मेलन में सैकड़ों की तादाद में लोग उपस्थित रहे।