वनों में औषधियों का बड़ा खजाना

0
225

ग्वालियर का मौसम जड़ी बूटियों के लिए अनुकूल है , आसपास के वनों में औषधियों का बड़ा खजाना है।यहां यदि शोध किया जाय तो एक बड़े उद्योग के रूप में सामने आ सकता है। शहर के आयुर्वेदिक दवाओं के निर्माताओं को 50 प्रतिशत से अधिक जड़ी बूटियां यहीं से मिलती हैं।

शहर के आसपास का हिस्सा पूरी तरह पेड़-पौधों से घिरा हुआ है। सामान्य रूप से हम इन्हें भले साधारण पेड़ समझते हैं लेकिन विशेषज्ञों के अनुसार यहां बड़ी तादाद में औषधीय पौधे हैं। शहर के औषधालय और फार्मेसी के साथ यहां की जड़ी बूटियां देश विदेश में भी सप्लाई की जाती हैं। शहर का मौसम यहां के रहवासियों के लिए सबसे ज्यादा चिंता का विषय रहता है। कभी जरूरत से ज्यादा गर्मी तो कभी सर्दी, लेकिन विषय विशेषज्ञ बताते हैं कि यह मौसम ही इन जड़ी बूटियों की बड़ी पैदावार का जिम्मेदार है।

विशेषज्ञों के अनुसार शहर के आसपास स्थित जंगल में करीब 500 से अधिक प्रजातियों के औषधीय पेड़-पौधे हैं। इनमें अर्जुन, आंवला, हरण, बहेड़ा, अमलतास, खदिर, अश्वगंधा और शतावरी समेत कई पौधे शामिल हैं।