लाखों श्रद्धालुओं ने मंदाकिनी में लगायी डुबकी

0
172

चित्रकूट- श्रावणी अमावस्या के पावन पर्व पर सुबह सूर्यग्रहण के बाद जब लाखों श्रद्धालुओं ने मंदाकिनी में एक साथ डुबकी लगायी तो धर्मनगरी ओम नम: शिवाय व बमभोले से गूंजने लगी। श्रद्धालुओं ने मंदाकिनी में स्नान के बाद मत्स्यगयेंद्र नाथ का जलाभिषेक कर कामदगिरि की परिक्रमा लगायी।

बुधवार को तड़के से ही लाखों श्रद्धालुओं का जमावड़ा रामघाट लग गया था। सूर्यग्रहण के कारण स्नान करने वाले भक्त इंतजार करते रहे। जैसे ही सूर्य ग्रहण का समय समाप्त हुआ वैसे ही श्रद्धालुओं ने मंदाकिनी में मोक्ष स्नान किया। मत्स्यगयेंद्र नाथ की पूजा के बाद जब भक्तों की भीड़ कामदगिरि की ओर बढ़ी तो तिल रखने की जगह नहीं दिखायी पड़ रही थी। तमाम श्रद्धालुओं ने लेटकर परिक्रमा भी की। इसी बीच बादलों के पीछे सूर्य देवता के छिपे होने से श्रद्धालुओं का सुहाने मौसम का अहसास भी हुआ।

श्रावणी अमावस्या पर पड़े सूर्य ग्रहण के कारण धर्मनगरी के सभी मंदिरों के कपाट मंगलवार को शाम साढे़ 7 बजे से सभी मंदिरों के कपाट बुधवार की सुबह 7.44 तक बंद रहे। बंद कर दिये गये थे। सूर्य ग्रहण खत्म होने के बाद सभी मंदिरों के कपाट भक्तों के लिए खोल दिये गये। कपाट खुलते ही भगवान के दर्शन के लिए भक्तों की भीड़ जमा हो गयी।