लखनऊ पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारे गए बचौली का आतंक जिले के तिरहार मे भी था जमौली में 52 घंटे तक अकेले पुलिस को छकाने वाले घनश्याम केवट का बहनोई था एक लाख का ईनामी बचौली

0
221

जिले के तिरहार क्षेत्रा में आतंक का पर्याय बने बचौली केवट के लखनऊ पुलिस द्वारा एक मुठभेड़ में मारे जाने की खबर मिलते ही इसके आतंक के साए में जी रहे लोगों ने राहत की सांस ली। एक लाख का ईनामी यह बदमाश दस्यु शंकर केवट के साथ अपराध की दुनिया में कूदने के बाद अपने साले घनश्याम उर्फ नाम के साथ मिलकर तिरहार क्षेत्रा में जमकर आतंक मचाए था। लेकिन जमौली में 52 घंटे तक पुलिस को छकाने वाले घनश्याम की मौत के बाद यह गैंगे के कुछ साथयों को लेकर अभी भी बराबर यमुना पट्टी के लोगों का जीना दूभर किए हुए था।  बुधवार की तड़के जैसे ही लोगों को खबर मिली कि जिले के तिरहार क्षेत्रा खास तौर से यमुना किनारे के गांवों में आतंक का पर्याय बना दस्यु बचौली लखनऊ में पुलिस के साथ मुठभेड़ मे ढेर हो गया है तो लोग बड़ी उत्सुकता से दस्यु के मारे जाने की खबर की वास्तविकता जानने में जुटे रहे। इसी बीच इलेक्ट्रानिक टीवी न्यूज चैनलों में आने लगा कि चित्राकूट का यह ईनामी बदमाश लखनऊ के गाजीपुर पिकनिक स्पाट रोड में लंबी चली मुठभेड़ के बाद ढेर हुआ है और उसके साथी भाग खड़े हुए हैं। पुलिस ने मौके से एक पिस्टल व दो राइफलें भी बरामद की हैं। इसके बाद से तो लोगों में खुशी का ठिकाना नहीं था। क्योंकि राजापुर थाना क्षेत्रा के  सुरवल गांव स्थित पंचापुरवा में ससुराल होने के बाद से यह इसी क्षेत्रा को केन्द्र बना अपराध करता था और इसके तार शंकर केवट से जुड़ने के बाद से तो पूरा लावलश्कर के साथ यमुना पट्टी के किनारे स्थित कनकोटा, खोपा, देवारी, सुरवल, रीठी, रगौली, सोतीपुरवा आदि दर्जनों गांवों में आतंक फैला दिया था। इस बीच शंकर के मरने के बाद घनश्याम केवट उर्फ नाम जो तेज तर्रार होने के चलते गैंग का मुखिया बन गया और इसका रिश्ते में साला था के साथ मिलकर भी यह बान्दा, फतेहपुर व जिले के किनारे के गांव में चौथ वसूली व अपहरण का धंधा तेजी से चालू कर रखा था। लेकिन इसी बीच जमौली गांव में घनश्याम उर्फ नाम पुलिस से 52 घंटे तक अकेले मुकाबला करने के बाद मारा गया तो गैंग की कमान बचौली ने स्वयं सम्भाल ली थी। इधर जिला पुलिस की बढ़ती सक्रियता से हलाकान बचौली अपने साथियों के साथ भागा-भागा घूम रहा था क्योंकि स्थानीय पुलिस की टीमें लगातार तिरहार क्षेत्रा में इसकी तलाश में सर्चिंग कर रही थी। चर्चा है कि पुलिस की दबिश के बाद से यह बड़े शहरों में अपने कुछ साथियों के साथ रहते हुए पुलिस गतिविधियां धीमी पड़ने का इन्तजार कर रहा था। लेकिन मंगलवार की रात सटीक मुखबिरी के चलते एक लाख का ईनामी बचौली पुलिस मुठभेड़ में मार गिराया गया।

NO COMMENTS