रुकी रेल परियोजना की बाधा दूर

0
223

ग्वालियर- गुना-इटावा रेल परियोजना को पूरा करने के लिए रेलवे वन विभाग को 55 लाख रुपए देगी। वन विभाग इस राशि से अभयारण्य में विकास कार्य कराएगा। यह बड़ी बाधा दूर होने से परियोजना का काम आगे बढ़ने का रास्ता साफ हो गया है।

परियोजना के अन्तर्गत भिंड से इटावा तक रेल मार्ग निर्माण का काम शेष रह गया है। यहां का काम भिंड जिले की वन भूमि व चंबल अभयारण्य की भूमि का हस्तांतरण न होने के कारण अटका हुआ है। परियोजना की राशि का पांच प्रतिशत करीब साढ़े तीन करोड रुपए वन विभाग को देने का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है।

रेलवे ने समस्या को सुलझाने के लिए प्रयास तेज कर दिए हैं। इन्हीं प्रयासों के चलते उत्तर मध्य रेलवे ने अभयारण्य भूमि की नेट प्रजेंट वेल्यू की राशि 55 लाख रुपए वन विभाग को देने का निर्णय लिया है। रेलवे इस राशि का चेक जल्द ही वन विभाग को सौंप देगी।