रियल स्टेट कंपनी BSP मायावती मालकिन…

0
182

बसपा सुप्रीमो मायावती को गुरुवार को एक और तगड़ा झटका दिया गया। बसपा महासचिव आैर वरिष्ठ नेता आरके. चौधरी ने पार्टी से इस्‍तीफा दे दिया। चौधरी ने मायावती पर कई गंभीर आरोप भी लगाए हैं। फिलहाल, चौधरी ने अभी किसी भी राजनीतिक पार्टी में शामिल होने का ऐलान नहीं किया है। उन्होंने कहा कि 11 जुलाई को वे बैठक कर आगे की रणनीति के बारे में बताएंगे। हालांकि, अभी तक स्वामी प्रसाद मौर्य से चौधरी की कोई बात नहीं हुई है।

आर के चौधरी मायावती पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि मायावती को धन उगाही का शौक है। चौधरी ने कहा कि बसपा अब कोई राजनीतिक दल नहीं बल्कि एक रियल एस्टेट कंपनी बन चुकी है। जिसकी मालकिन मायावती हैं। अंबेडकर के मिशन को मायावती भूल गई हैं और पार्टी के कई नेता और कार्यकर्ता उनसे त्रस्त आ चुके हैं।

बता दें कि आरके चौधरी 2013 अप्रैल में 12 साल बाद बसपा में वापस आए थे। आरके चौधरी ने कहा कि बसपा की कमान जब तक कांशीराम के हाथों में थी तब तक सबकुछ ठीक चल रहा था, लेकिन मायावती के हाथ में कमान आते ही धन वाले लोगों का रसूख बढ़ता गया। पैसे लेकर चुनाव में टिकट बांटे और काटे जाने लगे। मायावती के कारण बसपा बाबा साहब और कांशीराम की नीतियों से अलग हो गई

सूत्रों की माने तो आर. के. चौधरी मोहनलालगंज से टिकट मांग रहे थे, लेकिन बसपा सुप्रीमो ने यहां से राजबहादुर को पार्टी प्रत्याशी घोषित कर दिया है। इससे नाराज चल रहे आर के चौधरी बसपा छोड़ दिया।

NO COMMENTS