राज्यसभा में बुंदेलखंड की गूंज……

0
197

नई दिल्ली, (बुंदेलखंडलाइव) बुंदेलखंड मुद्दा किस कदर संवदेनशील बनता जा रहा है ये नजर आया राज्य सभा में गुरुवार को प्रश्नकाल में बुंदेलखंड मुद्दा .उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश के कुछ हिस्सों से बने इस क्षेत्र के पिछड़ेपन की चर्चा होते ही उच्च सदन में सियासत जमकर गरमा गई। कांग्रेस सांसद सत्यव्रत चतुर्वेदी ने जैसे ही बुंदेलखंड के पिछड़ेपन की तोहमत उत्तरप्रदेश और मध्यप्रदेश की सरकारों के मत्थे मढ़ी तो सपा और बसपा के सदस्यों ने तत्काल इसका जमकर विरोध किया और अध्यक्ष के आसन के करीब आ गए। स्थिति बिगड़ती देख अध्यक्ष हामिद अंसारी ने सदन को पंद्रह मिनट के लिए स्थगित करना पड़ा।
p2021
सपा सांसदों ने बुंदेलखंड को सर्वाधिक पिछड़ा इलाका बताए जाने पर आपत्ति जताई। सपा महासचिव अमर सिंह ने कहा कि जब उत्तर प्रदेश में उनकी पार्टी की सरकार थी, तब बुंदेलखंड के विकास के प्रयास किए गए थे। देश के पिछड़े इलाकों के विकास के बारे में पूछे जा रहे पूरक प्रश्नों के दौरान सत्यव्रत चतुर्वेदी ने कहा कि बुंदेलखंड अत्यंत पिछड़ा इलाका है और इसके विकास के लिए विशेष पैकेज की घोषणा अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि ‘मैं प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी को धन्यवाद दूंगा जिनके प्रयासों के फलस्वरूप बुंदेलखंड के लिए विशेष पैकेज की घोषणा की गई।’ जब उन्होंने कहा कि यह एक पिछड़ा इलाका है और पिछड़ेपन का कारण संबंधित राज्यों की सरकारों द्वारा लंबे समय से इसकी उपेक्षा किया जाना है तो सपा सदस्यों ने कड़ा विरोध किया। चतुर्वेदी ने कहा कि योजना आयोग के आंकड़े बताते हैं कि बुंदेलखंड किस कदर उपेक्षा का शिकार हुआ है। उनके इतना कहते ही सपा, बसपा और जद-यू के सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया और आसन के समक्ष आ गए।

 imp_district_map1


Vikas Sharma
bundelkhandlive.com
E-mail :editor@bundelkhandlive.com
Ph-09415060119