रंग लाई राहुल गांघी की बुंदेलखंड यात्रा..

0
114
राहुल गांघी के बुंदेलखंड प्रेम का असर हुआ तो बुंदेलखंड के लोगो के चेहरे खिल गए वजह रही   बुंदेलखंड की धरती को सींचने के लिए सरकार ने 7266 करोड़ रुपये के राहत पैकेज का नया पिटारा खोल दिया।
राहुल गांधी की चिंता से उपजे इस पैकेज को   केंद्रीय मंत्रिमंडल ने अगले तीन साल में बुंदेलखंड क्षेत्र के 13 जिलों का कंठ तर करने के लिए इस विशेष पैकेज को मंजूरी दे दी है।  इससे उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में फैले बुंदेलखंड के विकास की कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी की योजना पूरी हो सकेगी। केंद्र ने विशेष पैकेज की निगरानी के लिए एक निगरानी समूह गठित किया है।

imagesgimagesgfgbfg
प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में बुंदेलखंड के विशेष पैकेज को मंजूरी दी गई। बैठक के बाद सूचना प्रसारण मंत्री अंबिका सोनी ने बताया कि पैकेज के तहत राहत योजनाओं के क्रियान्वयन का अधिकार उत्तार प्रदेश और मध्य प्रदेश की राज्य सरकारों को दिया गया है। उन्होंने बताया कि पैकेज के क्रियान्वयन पर नजर रखने के लिए केंद्र एक निगरानी समूह बना रहा है, इसके लिए जो निगरानी समूह गठित किया जाएगा, उसके अध्यक्ष योजना आयोग में उत्तर प्रदेश के इंचार्ज सदस्य और उपाध्यक्ष मध्य प्रदेश के इंचार्ज सदस्य होंगे। इसके साथ ही दोनों राज्यों के मुख्य सचिव भी इसमें शामिल होंगे।

सोनी ने बताया कि पैकेज के लिए आर्थिक साधन इन इलाकों में चल रही केन्द्रीय योजनाओं को समेकित कर जुटाये जायेंगे। इसके अलावा इस पैकेज के लिए केन्द्र उत्तार प्रदेश और मध्य प्रदेश की सरकारों को वर्ष 2009-10 से अगले तीन सालों में 3450 करोड़ रुपये की केंद्रीय सहायता भी मुहैया करायेगी। बुंदेलखंड को लेकर खासे फिक्रमंद राहुल गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मुलाकात के बाद मंजूर हुए इस पैकेज में इलाके की सिंचाई सुविधाओं को मजबूत करने पर जोर दिया गया है। निर्धारित योजना के मुताबिक वर्षा जल संचयन और नदी जल के समुचित उपयोग पर जोर दिया जाएगा। इसके अलावा सात हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की इस इमदाद का उपयोग दोनों राज्यों में 20 हजार कुएं और 30 हजार खेत-तालाब खोदने में भी किया जायेगा। इलाके के किसानों को बेहतर कृषि तकनीक और पशुपालन सुविधाएं भी मुहैया कराई जायेंगी ताकि उनकी आय बढ़ सके। सोनी ने बताया कि पैकेज का लक्ष्य उत्तार प्रदेश में सात और मध्य प्रदेश में चार लाख हेक्टेयर भूमि को वाटरशेड योजनाओं के सहारे विकसित करना है।

vikas sharma
Beuro chief
(bundelkhandlive.com)
JHANSI OFFICE
PH-09415060119

NO COMMENTS