युवाओं ने संकल्प लिया स्वैच्छिक रक्तदान का

0
257

ललितपुर- काशीराम संयुक्त चिकित्सालय में आज स्वैच्छिक रक्तदान दिवस के अवसर पर शिविर लगाया गया। जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद व पुलिस अधीक्षक महेश कुमार मिश्रा की मौजूदगी में आयोजित शिविर में सैकड़ों युवाओं ने स्वैच्छिक रक्तदान का संकल्प लिया। इस मौके पर अधिकारीद्वय ने कहा कि समाज में स्वैच्छिक रक्तदान के लिए जनजागृति लाने की आवश्यकता है। रक्तदान के द्वारा मनुष्य दूसरों के प्राणों की रक्षा कर सकता है।

जिलाधिकरी ने कहा कि ललितपुर जिले ने समाजसेवा के क्षेत्र में कई मिशालें कायम की है। इनमें रक्तदान भी एक है। यहा के युवाओं में स्वैच्छिक रक्तदान करने का जो माद्दा है वह कम ही दिखायी देता, लेकिन समाज में इसके लिए अभी और जागरुकता लाने की आवश्यकता है। लोगों में यह भ्रान्ति फैली हुई है कि रक्तदान करने से मनुष्य शारीरिक दुर्बलता का शिकार हो जाता जबकि ऐसा कदापि नहीं। 18 से 60 वर्ष की आयु में कोई भी स्वस्थ्य व्यक्ति रक्तदान कर सकता। पुलिस अधीक्षक ने महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी सुभाष चंद्र बोस का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने जंगे आजादी के दौरान ‘तुम हमें खून दो हम तुम्हे आजादी देंगे’ का नारा बुलंद किया था। ठीक उसी तरह अब समाज में ‘तुम हमें खून दो हम दूसरों को नया जीवन देंगे’ के नारे का अलख जगाने की आवश्यकता है। ऐसे बहुत से मरीज है जो खून का इतजाम न होने की वजह से असमय दम तोड़ देते। ऐसे मरीजों के जीवन की रक्षा के लिए समाज को आगे आना होगा। उन्होंने युवाओं से अपील की कि वह स्वैच्छिक रक्तदान के लिए आगे आएं और समाज को जागरुक बनाएं।

शिविर में एनसीसी कैडिट्स, भाग्योदय रक्तदान समिति, ओम साई राम सेवा समिति, बुंदेलखण्ड विकास सेना के अलावा विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं व गणमान्य नागरिकों ने स्वैच्छिक करने का संकल्प लिया। जिला एड्स कार्यक्रम अधिकारी डा.सत्येन्द्र कुमार ने इस मौके पर स्वैच्छिक रक्तदान के महत्व के बारे में जानकारिया दीं तथा जनपद में सर्वाधिक रक्तदान करने वाले लायंस क्लब सेवा समिति के अमरजीत सिंह की सराहना कर युवाओं से उनसे प्रेरणा लेने की अपील की। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा.आर.के.निरजन, बुविसे प्रमुख हरीश कपूर, पंकज जैन आदि ने विचार व्यक्त किए। संचालन डा.आर.पी.गुप्ता ने किया।