मिलावटखोरी रोकने के लिये चलाये जा रहे छापामार अभियान

0
227

जनपद में मिलावटखोरी रोकने के लिये चलाये जा रहे छापामार अभियान के तहत आज तालबेहट क्षेत्र में व्यापक पैमाने पर कार्यवाही की गई। छापामार टीम ने मावा, नमकीन और पेठा दुकानों पर छापे मारकर गड़बड़ी की आशका में नमूने भरे और जाँच के लिये प्रयोगशाला भिजवाये। छापामार कार्यवाही की भनक लगते ही मिलावटखोरों में हड़कम्प मच गया और उन्होंने आनन-फानन में दुकानों के शटर बन्द कर घरों की ओर रवानगी डाली।

होली पर्व पर मावा से गुझिया व अन्य पकवान बनाने की परम्परा काफी पुरानी है। लगभग प्रत्येक घर में रंगों के पर्व पर मावे से पकवान बनाये जाते है। इसी को ध्यान में रखते हुये जनपद के मिलावटखोर सक्रिय हो जाते है। मिलावटखोर सीमावर्ती राज्य मध्यप्रदेश के ग्वालियर और भोपाल से दूषित मावा खरीदकर लाते है और उसे बेचते है। इसमें उन्हे जबरदस्त मुनाफा होता है, लेकिन लोगों के स्वास्थ्य पर प्रतिकूल असर पड़ता है। लोगों के स्वास्थ्य के प्रति बेहद सन्जीदा जिलाधिकारी चन्द्रिका प्रसाद तिवारी ने शासन से विशेष निर्देश माँगे थे। शासन से हरी झण्डी मिलते ही जनपद में व्यापक पैमाने पर छापामार अभियान शुरू कर दिया गया।

शुरूआत में जिला मुख्यालय पर और उसे बाद में तहसील महरौनी में मिलावटखोरी रोकने के लिये कार्यवाही की गई। इसके बाद आज होली का अवकाश होने के बावजूद डीएम के निर्देश पर मुख्य खाद्य निरीक्षक वी.के. वर्मा और उनकी टीम द्वारा कस्बा तालबेहट में छापामार कार्यवाही की गई।

छापामार टीम सबसे पहले अनुपम चतुर्वेदी के प्रतिष्ठान प्रिया स्वीट्स पर पहुँची और प्रत्येक चीज का बारीकी से निरीक्षण किया। इस दौरान दुकान पर रखे मावे की जाँच की गई तो उसमें मिलावट की आशका हुई, जिस पर मुख्य खाद्य निरीक्षक वी.के. वर्मा ने मावे का नमूना भरा। छापामार टीम का अगला पड़ाव था सन्दीप गुप्ता की दुकान, जहाँ पर सभी खाद्य पदार्थो की जाँच की गई, जिसमें नमकीन में गड़बड़ी की आशका होने पर खाद्य निरीक्षक आर.के. लावानिया ने नमूना भरा।

इसी प्रकार छापामार टीम पहुँची ग्राम चन्देरा जहाँ पर अजय जैन की पेठा की दुकान पर छापामार कार्यवाही की गई। इस दौरान पेठा बनाया जा रहा था और जब उसकी जाँच की गई तो उसमें गड़बड़ी की आशका हुई, जिस पर खाद्य निरीक्षक दिनेश कुमार बिरौनिया ने पेठे का नमूना भरा। उक्त तीनों नमूनों को जाँच के लिये राजकीय जनविश्र£ेषक प्रयोगशाला उत्तर प्रदेश भिजवा दिया गया। छापामार कार्यवाही की भनक लगते ही तालबेहट, बाँसी इत्यादि क्षेत्रों के मिलावटखोरों में हड़कम्प मच गया और उन्होंने आनन-फानन में दुकानें बन्द कर दी।

इस बारे में मुख्य खाद्य निरीक्षक ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर जनपद में मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है, यह अभियान आगे भी जारी रहेगा।

सुरेन्द्र अग्निहोत्री
मो0 9415508695
upnewslive.com