मतदाता सूचियों की त्रुटिया सुधारने के लिए जिलाधिकारी ने दिया अल्टीमेटम

0
200

ललितपुर- जिला निर्वाचन अधिकारी पवन कुमार ने तीनों तहसीलों के तहसीलदारों को कड़े दिशा निर्देश दिये हैं कि वह 15 जुलाई तक प्रत्येक दशा में मतदाता सूचियों की त्रुटिया दुरुस्त कर लें। यदि सम्भाजन एवं कनवर्जन के बाद किसी मतदेय स्थल की सूची में गड़बड़ी मिलती है तो सम्बन्धित के विरुद्ध निर्वाचन नियमों की सुसंगत धाराओं के तहत कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने बताया कि अभी भी मतदाता सूचियों में त्रुटिया बनी हुई है जिन्हे समय रहते दुरुस्त किया जाना अत्यंत आवश्यक है।

दिशा निर्देशों में कहा गया कि मतदाता सूचियों में कई बार मतदाताओं के नाम दर्ज पाये गये है, जबकि पहले ही डबल नामों की सूची भेजी गयी थी। इसके उपरात भी मतदाताओं के नाम काटे नहीं गये है। दोबारा सूची में सम्मिलित मतदाताओं के नाम प्रत्येक दशा में काटे जाना आवश्यक है। यह भी संज्ञान में आया है कि मतदाताओं के नाम दो जगह दर्ज बने हुए है। जैसे कि वह गाव में भी है तथा नगर क्षेत्र में भी दर्ज है। ऐसे मतदाताओं के नाम मतदाता सूची से पृथक किया जाना या स्थानातरण किया जाना आवश्यक है। फोटो युक्त मतदाता सूचियों में श्रेणी क के तहत 3529 तथा ख के तहत 4122 मतदाता दर्ज दर्शाये गये है, लेकिन पाया गया है कि बहुत से मतदाता अपना मकान बनाकर अपने परिवार सहित बाहर रहने लगे है। जहा वह रह रहे है वहा मतदाता सूचियों में उनके नाम भी दर्ज है। पैतृक गाव की जमीन जायदाद के फायदे के लिए मूल जनपदों की मतदाता सूचियों में नाम दर्ज कराये हुए है। ऐसे मतदाताओं के प्रति नोटिस जारी करते हुए नाम पृथककरण की कार्यवाही शुरू की जाये।

कुछ ऐसे मतदाता है जिनको फोटो पहचान पत्र भी उपलब्ध है, लेकिन उनकी मतदाता सूची में फोटो नहीं है। ऐसे मतदाताओं की एक फोटो 001 बी या सादा कागज पर चस्पा कराकर पूर्ण की जाये। फोटो युक्त मतदाता सूची में मतदाताओं के नाम परिव‌र्द्धन कर जोड़ दिये गये, लेकिन उनकी फोटो प्राप्त कर 001 ए फार्म नहीं भराये गये है। इस स्थिति में विधानसभा नम्बर, मतदेय स्थल संख्या क्रमाक दर्ज करते हुए फार्म पर फोटो चस्पा कर कमी को दुरुस्त कराया जाना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने यह भी बताया कि सूची में मतदाताओं के अनुभाग, मकान नम्बर, मतदाता का नाम, सम्बन्ध, पिता, पति का नाम, लिंग एवं उम्र गलत दर्ज है। इस स्थिति के चलते कई मतदाता फोटो पहचान पत्र प्राप्त करने से इकार करते है। त्रुटियों को तत्काल दूर किया जाये। मतदाताओं ने कई बार फोटो निकलवा दिये अथवा फोटो दे दी है फिर भी उन्हे फोटो पहचान पत्र उपलब्ध नहीं कराये गये है। ऐसे मतदाताओं की सूची बनवाकर डुप्लीकेट फोटो पहचान पत्र तैयार कराकर वितरण कराया जाना जरूरी है। कुछ ऐस भी मतदता है जिन्होंने निर्धारित शुल्क जमा कर रसीदें प्राप्त कर ली है लेकिन अभी तक फोटो पहचान पत्र प्राप्त नहीं कराया गया है। ऐसे मतदाताओं की सूची तैयार कर फोटो पहचान पत्र का वितरण प्रत्येक दशा में करा दिया जाये।

जिलाधिकारी ने यह भी बताया कि संक्षिप्त पुनरीक्षणों के दौरान रिजेक्ट फोटो का डाटा सीडी के द्वारा भेजा गया था, लेकिन शुद्धि हेतु सूची नहीं उपलब्ध करायी गयी है। रिजेक्ट डाटा को तत्काल शुद्ध किया जाये। ऐसे मतदाता जो कई ग्राम, मोहल्लों में दूसरी पोलिंग स्टेशनों में सम्मिलित है उन्हे सही ग्राम, मकान, नम्बर, परिवार एवं मोहल्लों में स्थानातरित किया जाये। निर्देशों के उल्लंघन की स्थिति में कठोर कार्यवाही करने की चेतावनी दी गयी।