मतदाताओं पर गहरी पैठ

0
190

चित्रकूट-बांदा- लोकसभा चुनाव परिणामों के बाद सपा प्रत्याशी आर के सिंह पटेल ने साबित कर दिया है लोकसभा क्षेत्र के मतदाताओं पर उनकी गहरी पैठ है। साथ ही संसदीय सीट का प्रतिनिधित्व एक बार फिर चित्रकूट में रहने से जिले के मतदाताओं में उत्साह है।

बसपा का नीला झंडा थाम चित्रकूट विधानसभा क्षेत्र से राजनीति शुरू करने वाले आर के सिंह पटेल ने वर्ष 1993 में बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था। जिसमें उन्हे पराजय मिली थी। इसके बाद वर्ष 1996 में हुये पहली बार चित्रकूट विधानसभा से विधायक बने। इसी सीट से दोबारा वह वर्ष 2001 में भी विधानसभा में पहुंचे। विधायकी के दौरान ही वह वर्ष 2004 में हुये लोकसभा चुनाव में बसपा के टिकट पर इलाहाबाद से मुरली मनोहर जोशी के विरुद्ध चुनाव लड़े। इस चुनाव में उन्होंने तीसरे नंबर पर रहने के बावजूद बढि़या प्रदर्शन किया था। वर्ष 2007 में हुये विधानसभा चुनाव में बसपा ने उनका टिकट काट दिया। इस पर पटेल सपा के टिकट पर चुनाव लड़े, किंतु इस बार उनकी हैट्रिक नहीं पूरी हो सकी।

इसके बाद सपा ने लोकसभा क्षेत्र के सिटिंग सांसद श्यामाचरण गुप्ता का टिकट काट कर पटेल को मैदान में उतारा। उन्होंने सपा मुखिया के भरोसे को कायम रखते हुये जिले में सांसदी भी कायम रखी।