मजदूरी भुगतान नहीं हुआ तो अधिकारी बख्शे नहीं जायेंगे

0
113

बांदा- चित्रकूट मंडल में पौधरोपण का जायजा लेने आये मुख्य वन संरक्षक ने काम में हीलाहवाली मिलने पर वनाधिकारियों को जमकर फटकारा। मुख्य वन संरक्षक ने चेतावनी दी कि नरेगा के तहत काम करने वाले मजदूरों को समय पर भुगतान नहीं हुआ और इसकी शिकायत उन्हें मिली तो संबंधित अधिकारी बख्शे नहीं जायेंगे।

शुक्रवार को मवई स्थित सर्किट हाउस में मुख्य वन संरक्षक झांसी जोन उमाशंकर सिंह ने मंडलीय अधिकारियों की क्लास लेते हुए कहा कि पौधे रोपने भर से जिम्मेदारी पूरी नहीं हो जाती। उनका रख रखाव और सिंचाई आदि की व्यवस्था भी इमानदारी से की जानी चाहिये ताकि सूखे बुंदेलखंड को हरा-भरा बनाया जा सके। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट चेतावनी दी कि नरेगा के तहत कराये गये काम की मजदूरी मजदूरों को तत्काल चेक के माध्यम से दिया जाये और उनके खाते नजदीकी बैंक में खुलवाये जायें।सिंह ने कहा कि अगर किसी मजदूर द्वारा भुगतान न मिलने की शिकायत उनके पास पहुंची तो संबंधित अधिकारी पर सख्त कार्रवाई की जायेगी। राजस्व एवं विभागीय कार्यो की समीक्षा बैठक में श्री सिंह ने नर्सरियों में मौजूदा पौधशाला की जानकारी ली। राजस्व वसूली मानक के अनुरूप न होने पर वनाधिकारियों को फटकार लगायी। बैठक में चित्रकूटधाम मंडल के वन संरक्षक कमल किशोर, डीएफओ नुरुल हुदा, चित्रकूट के वनाधिकारी डीके चोपड़ा, महोबा के रामराज गौतम, हमीरपुर के एचवी गिरीश उपस्थित रहे।