भाई ने भाई की कर दी हत्या -जानें वजह

0
306

हमीरपुर : यूपी के हमीरपुर जिले में सिर्फ 5000 रुपए के लिए एक भाई ने अपने ही भाई की हत्या कर खून के रिश्ते को कलंकित कर दिया। फिलहाल हत्यारा भाई और भतीजा अभी पुलिस की गिरफ्त से दूर है। मृतक का शनिवार को पोस्टमार्टम कराया जा रहा है।
कुरारा थाने के एसओ अभिमन्यु यादव का कहना है कि पैसों को लेकर पूर्व प्रधान राजकिशोर के घर में भाईयों के बीच पंचायत हुई थी।
मृतक को अपने भाई बाबूराम से 5000 रुपए लेने थे। इसी बात को लेकर यह घटना हो गई।

यह घटना हमीरपुर जि‍ले के कुरारा क्षेत्र की है। यहां मुन्ना प्रजापति (45) को उसी के सगे भाई बाबूराम ने चाकू से गोद-गोदकर मार डाला।
इस हत्या में बाबूराम का पुत्र आकाश भी शामिल है जिसने कुल्हाड़ी से चाचा पर कई वार किए थे। घटना से परिवार में कोहराम मचा है।
बताया जाता है कि स्व.कारेलाल प्रजापति के चार बेटे रामाधीन, मुन्ना, बाबूराम और राजकिशोर है। राजकिशोर एक गांव का प्रधान चुका है।
कारेलाल ने अपने जीवि‍तकाल में ही 3 बीघा जमीन को चारों बेटों और अपनी पत्नी गुजरतिया के नाम बंटवारा कर चुका था।
गुजरतिया अपने बड़े बेटे रामाधीन के साथ रहती थी। वहीं तीनों बेटे अलग-अलग मकान में रहते थे। भाईयों में राजकिशोर की आर्थि‍क स्‍थि‍ति‍ ठीकठाक थी। मृतक की मां गुजरति‍या ने रोते हुए कहा कि 5000 रुपए में भाई ने भाई का खून बहा दिया। अब उसके बच्चों का क्या होगा? मृतक की पत्नी और बच्चों का भी रो-रोकर बुरा हाल है। वहीं गांव के लोग चंद रुपए में खूनी रिश्तों का खून बहाने की घटना से हैरान हैं।

5 बच्चों का पिता था मृतक मुन्ना दो बेटियों और तीन बेटों का पिता है। उसने अपनी एक बेटी की शादी कर दी थी। एक ट्रैक्टर भी लिया था। अपने भाई बाबूराम की 5 बीघा खेत लेकर उसने जुताई-बुआई की थी। इसमें उसके 5 हजार रुपए भी खर्च हुए।

रामाधीन के बेटे दिनेश का कहना है कि एक सप्ताह पहले अंकल मुन्ना ने बाबूराम से 5000 रुपए मांगा। इसी बात से दोनों में विवाद हुआ। तब दोनों पक्षों के बीच घर में पंचायत कराई गई, लेकि‍न दोनों ने पंचायत की बात नहीं मानी।
शुक्रवार को मुन्ना खेत से घर आया और अपने बीमार भाई राजकिशोर को देखने चला गया तभी उसके भाई बाबूराम ने चाकू से हमला कर दिया।
उसके बेटे आकाश ने भी कुल्हाड़ी से कई वार किए। हत्या के बाद दोनों मौके से भाग निकले। घटना से परिवार में मातम पसरा है।