बुंदेलखण्ड के सात जिले पायलट प्रोजेक्ट में शामिल

0
163

ललितपुर- काग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक नरेगा के प्रदेश संयोजक जसपाल सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। जिसमें केन्द्र सरकार द्वारा बुंदेलखण्ड के 7 जिलों को पायलट प्रोजेक्ट में शामिल किये जाने पर खुशी जतायी गई। वक्ताओं ने कहा कि केन्द्रीय राज्यमंत्री प्रदीप जैन आदित्य के प्रयासों से मिली इस सफलता के बाद बुंदेलखण्ड में विकास के द्वार खुल जाएंगे।

बैठक में वक्ताओं ने कहा कि बुंदेलखण्ड में प्राकृतिक वन एवं खनिज सम्पदा का अकूत भण्डार है। यहा सालों से हो रहे खनिज सम्पदा के दोहन से सरकार को भले ही लाखों रुपये के राजस्व का मुनाफा हो रहा हो लेकिन विकास के नाम पर धेला भी खर्च नहीं किया गया। यदि इस क्षेत्र से निकाले जा रहे खनिज व वन सम्पदा की आय का कुछ हिस्सा ही विकास के नाम पर खर्च किया गया होता तो शायद आज बुंदेलखण्ड को भुखमरी, गरीबी, कुपोषण जैसी समस्या से नहीं जूझना पड़ता।  केन्द्रीय राज्यमंत्री प्रदीप जैन आदित्य ने लोकसभा चुनाव में बुंदेलखण्ड की आवाम से जो वायदा किया था वह उस पर खरे उतर रहे है। उनके प्रयासों से बुंदेलखण्ड के सात जिलों को केन्द्र सरकार ने अपने पायलट प्रोजेक्ट में सम्मिलित किया है। जिसके द्वारा न सिर्फ सड़कों, स्कूलों का विकास होगा बल्कि भू संसाधन, भूमि सुधार, कृषि सुधार, सिंचाई सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा। वक्ताओं ने कहा कि पायलट प्रोजेक्ट के तहत कुआ, तालाबों का निर्माण, गावों को जोड़ने के लिए नए सम्पर्क मार्ग का निर्माण भी किया जाएगा।

NO COMMENTS