बजट की खास बातें

0
213

54 नई ट्रेनों का प्रस्तावः-
-अहमदाबाद से उधमपुर
-इंदौर से मुंबई।
-हरिद्वार से मुंबई।
-सुल्तानपुर से मुंबई।
-सुल्तानपुर से अजमेर।
-कोलकाता से अजमेर।
-संबलपुर हावड़ा।
-अहमदाबाद जोधपुर।
-कोलकाता दरभंगा।
-ग्वालियर से छिंदवाड़ा।
-हावड़ा से शिरडी।
-10 नई दुरंतो ट्रेन।
-16 नई भारत तीर्थ एक्सप्रेस-जहां से शुरू होगी वहीं खत्म होगी।
-जन्मभूमि ट्रेन चलेगी।

नई रेल लाइनः-
-अमेठी-शाहगंज वाया सुल्तानपुर।
-बहादुरगढ़-झज्जर।
-अजमेर से कोटा।
-ब्यास से कपूरथला।
-ऊरई से जालौन।
-विलासपुर से लेह।
-चंडीगढ़ से देहरादून।
-दौराला से बिजनौर।
-पलवल से अलवर।
-पानीपत से मेरठ।
-पांडुरंग से भद्राचलम।
-इटावा से मैनपुरी।
-जबलपुर से पन्ना।
-जगदलपुर से दंतेवाडा़।
-जैसलमेर से बाड़मेर।
-ऋषिकेश से डोइवाला।
-संभल से गजरोला।
-झाझा से गिरिडीह।
-जोगिंदर नगर से मंडी।
-ऊना से होशियारपुर।
-यमुनानगर से पटियाला।
-अगरतला से बांग्लादेश।

अन्य प्रमुख बातें:-

-माल ढुलाई के लिए कई नए कॉरिडोर
 *
-नॉर्थ-साउथ कॉरिडोर।
 * -ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर।
 *-ईस्ट कोस्ट कॉरिडोर।

-कई पैसेंजर कॉरिडोर बनेंगे।
-117 नई ट्रेनों का प्रस्ताव।
-21 ट्रेनों की दूरी बढ़ाई जाएगी
-परीक्षण के लिए डबल डेकर ट्रेनें चलेंगी
-नई रेल लाइनों के लिए 4411 करोड़ रुपए
-नई 54 ट्रेनों में से 28 पैसेंजर ट्रेनें
-तेल व खाद की ढ़ुलाई पर 100 रुपए की रियायत
-2009-10 में रेलवे को 1328 करोड़ का मुनाफा
-कैंसर मरीजों मुफ्त में सफर करेंगे
-ई-टिकट पर सर्विस चार्ज कम होगा
-किराए में कोई बढ़ोतरी नहीं होगी
-नेशनल हाई स्पीड रेल अथॉरिटी भी बनाई जाएगी।
-डेडिकेटेड हाई स्पीड पैसेंजर कॉरिडोर बनेंगे।
-हाई स्पीड ट्रेनों के लिए अलग से कॉरिडोर बनेंगे।
-रेलवे के संस्थानों में विदेशी छात्रों को भी दाखिला।
-अगरतला से बांग्लादेश के बीच लिंक।
-माल भाड़ा नहीं बढ़ेगा
-रेलवे पार्सल के लिए ‘तत्काल स्कीम’ चालू होगी

 
-रेलवे के लिए मिशन 2020।
-5 साल में पूरे देश को रेलवे नेटवर्क से जोड़ने का लक्ष्य।
-निजी क्षेत्र को रेलवे में भागीदारी करने  का आह्वान।
-रेलवे का निजीकरण नहीं।
-रेलवे की परीक्षाओं में हिन्दी, अंग्रेजी, उर्दू व स्थानीय भाषाओं को शामिल किया जाएगा।
-रेलवे के लिए स्पेशल टास्क फोर्स बनेगी।
-यात्री सुविधाओं के लिए 1302 करोड़ रुपए।
-हर साल नई 1000 किमी नई रेल लाइन बिछाई जाएगी।
-रेलवे पीने का सस्ता पानी देगी।
-पानी के 6 नए बॉटलिंग प्लांट लगाए जाएंगे।
-मुसाफिरों को अच्छा खाना देने की कोशिश होगी।
-पंचायतों में भी टिकट सेंटर खुलेंगे।
-हादसे रोकने के लिए नए उपकरण लगाए जाएंगे।
-जिलाधिकारी के दफ्तरों में भी टिकट सेंटर खुलेंगे।
-अस्पतालों व कोर्ट में भी टिकट सेंटर खुलेंगे।
-देश में 17 हजार ट्रेंने अभी चलती हैं।
-5 साल में हर रेलवे क्रॉसिंग पर चौकीदार नियुक्त किए जाएंगे।
-प्लेटफॉर्म क्रास करने के लिए अंडरपास बनेंगे।
-रेलवे परीक्षा में महिलाओं से फीस नहीं ली जाएगी।
-आरपीएफ की महिला विंग तैयार की जाएगी।
-आरपीएफ में पूर्व सैनिक भर्ती होंगे।
-अंबाला, अमेठी, नासिक सहित 6 शहरों में बॉटिलंग प्लांट लगेंगे।
-रेलवे 5 खेल अकादमी भी बनाएगा। ( कोलकाता, चेन्नई, मुंबई, सिकंदराबाद, ..)
-खिलाड़ियों को और नौकरी देगी रेलवे।
-कॉमनवेल्थ गेम्स की लिंक पार्टनर होगी रेलवे।
-हावड़ा में रवींद्र म्यूजियम बनेगा।
-गीतांजलि म्यूजियम भी बनाएगा रेलवे।
-रेलवे कर्मचारियों को घर की योजना।
-कर्मचारियों के लिए 381 जांच केन्द्र।
-रेलवे स्कूल व कॉलेज भी खोलेगी।
-रेलवे में 81 हजार महिला कर्मचारी।
-रेलवे कर्मचारियों के बच्चों के लिए हॉस्टल खोले जाएंगे।
-महिला कर्मचारियों के लिए 50 क्रेश खोले जाएंगे।
-खड़कपुर में लोको पायलट ट्रेनिंग सेंटर और रेलवे रिसर्च सेंटर खुलेगा।
-कुलियों व वेंडरों का स्वास्थ्य बीमा होगा।
-रायबरेली कोच फैक्टरी में एक साल में काम शुरू होगा।
-कई नई कोच फैक्टरियां खुलेंगी।
-चेन्नई रेल कोच फैक्टरी का आधुनिकीकरण।
-मुंबई के पास वैगन रिपेरिंग वर्कशॉप खुलेगा।
-जमीन मिली तो सिंगूर में रेल फैक्टरी बनेगी।
-5 नए वैगन कारखाने खुलेंगे।
-बड़े स्टेशनों पर कोल्ड स्टोरेज बनेंगे।
-10 ऑटो मोबाइल हब बनाएगी रेलवे।
-ग्लोबल वार्मिंग के लिए भी रेलवे चिंतित है।
-रेलवे ईको पार्क बनाए जाएंगे।
-रेलवे पार्सल के लिए तत्काल स्कीम।
-रेलवे जबरदस्ती किसी की भी जमीन नहीं लेगी। जमीन लेने पर एक सदस्य को नौकरी।

 


Vikas Sharma
bundelkhandlive.com
E-mail :editor@bundelkhandlive.com
Ph-09415060119