बच्चों का पोषाहार खा रहे है पशु

0
174

बांदा- मटौंध कस्बा में आंगनबाड़ी  दस केंद्र संचालित हैं पर इनमें अक्सर ताला लगा रहता है। पोषाहार बच्चों को न बांटकर पशुपालकों को बेंच दिया जाता है।  सुपरवाइजर प्रत्येक आंगनबाड़ी कार्यकत्री से सुविधा शुल्क लेती है। यह आरोप मटौंध नगर पंचायत सभासद निशा बेगम ने लगाया है।

कस्बा में आंगनबाड़ी सुपरवाइजर आशा ने आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों से सुविधा शुल्क बढ़ाने को लेकर परेशान कर रही है। दस केंद्रों में दस आंगनबाड़ी कार्यकत्री हैं और इतनी ही सहायिकायें भी हैं। हर केंद्र में दस बोरी पंजीरी बच्चों को बांटने के लिए दी जाती हैं लेकिन इसका वितरण नहीं किया जाता बल्कि पशुपालकों को बेंच दिया जाता है बदले में सुपरवाइजर प्रत्येक आंगनबाड़ी कार्यकत्री से सुविधा शुल्क लेती हैं।

नगर पंचायत सभासद निशा बेगम इस आशय की शिकायत जिला कार्यक्रम अधिकारी से की है और जांच करवाने की मांग की है। इस संबंध में जिला कार्यक्रम अधिकारी नीलम कुशवाह ने बताया कि अभी उनके संज्ञान में ऐसी शिकायत नहीं आई है। शिकायत आने पर वह इस मामले की जांच करवायेगी और दोषी पर सुपरवाइजर के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जायेगी।