प्रशासन से की बालिका इंटर कालेज खोलने की मांग

0
190

महोबा-जहां एक ओर सरकार बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिये करोड़ों रुपया खर्चा कर रही है। वहीं एक लाख से अधिक आबादी वाले क्षेत्र श्रीनगर में एक भी बालिका इंटर कालेज नहीं है। जिससे छात्राएं कक्षा 8 पास कर घर बैठने को मजबूर है।

म प्र सीमा से सटे श्रीनगर क्षेत्र में दो दर्जन से अधिक गांवों में बालिका शिक्षा का बुरा हाल है। कस्बा श्रीनगर से बीस किमी दूर महोबा मुख्यालय व 25 किमी दूर जैतपुर में बालिकाओं के लिये माध्यमिक व उच्च शिक्षा की व्यवस्था है। लेकिन कस्बा श्रीनगर में बालिकाओं को कक्षा 8 तक की शिक्षा ही मिल पाती है। वैसे यहां छात्रों के लिये राजकीय इंटर कालेज है लेकिन छात्रों की अधिकता एवं शिक्षकों की कमी के चलते बालिकाओं को प्रवेश नहीं मिल पाता है। वहीं कुछ अभिभावक सह शिक्षा के कारण बालिकाओं को प्रवेश नहीं दिलाते है। जिसके कारण कस्बा व क्षेत्र की हजारों बालिकाएं माध्यमिक व उच्च शिक्षा से वंचित हो रही है। कस्बा श्रीनगर प्रधान शिवकुमार राजपूत, पूर्व प्रधान देवी सिंह राजपूत सहित ननौरा, बिलखी, उरवारा, पिपरामाफ, भण्डरा, मवई, सलारपुर, तिंदौली, सिजवाहा आदि ग्राम प्रधानों ने कस्बा श्रीनगर में बालिका इंटर कालेज खोले जाने की मांग की है। प