प्रमुख सचिव: बुन्देलखण्ड में धान नही बेच सकेंगे किसान

0
246

झाँसी। विकास योजनाओं की नब्ज टटोलने आए प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद सुधीर गर्ग ने कहा है कि बुन्देलखण्ड क्षेत्र में अब धान की खरीद नहीं की जाएगी। पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवाल पर प्रमुख सचिव ने कहा कि बुन्देलखण्ड में पानी के संकट को देखते हुए यहां धान की खरीद नहीं किए जाने का निर्णय किया गया है। यह फैसला इसलिए लिया गया ताकि यहां के किसान यहां धान की फसल बोना बंद कर दें।
प्रमुख सचिव ने कहा कि धान की पैदावार में पानी की खपत सर्वाधिक होती है। बुन्देलखण्ड में सूखा पड़ रहा है और इन हालातों में यहां धान की खेती ठीक नहीं है। इसी को लेकर यह फैसला किया गया कि इस क्षेत्र में सरकारी तौर पर धान की खरीद न की जाए। लेकिन, जो किसान धान की पैदावार कर रहे हैं वह यहां से बाहर जाकर कानपुर या अन्य स्थानों पर इसे बेच सकते हैं। धान बोने वाले किसानों के लिए उन्होंने कहा कि पानी की कमी को देखते हुए उन्हें पहले ही धान की रोपाई को मना कर दिया गया था। यदि जिलाधिकारी चाहें तभी विशेष परिस्थितियों में धान की खरीद की जा सकती है। उन्होंने कहा कि यहां पानी के संकट को देखते हुए डीएम के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया जा रहा है। यह टीम ग्रामीण स्तर पर भ्रमण कर वहां के ग्राउंड वाटर लेबिल व लघु सिंचाई की व्यवस्थाओं का सर्वे कर रिपोर्ट देगी। प्रमुख सचिव ने कहा कि बुन्देलखण्ड के सभी सूखा प्रभावित जिलों में खाद्य सुरक्षा योजना के तहत लाभार्थियों में प्रतिशत की बाध्यता नहीं रहेगी। इस योजना के तहत सभी पात्रों को ही खाद्यान्न दिया जाएगा। यह कितने भी प्रतिशत हो सकता है। शत प्रतिशत पात्रों को खाद्यान्न दिया जाना है। पत्रकार वार्ता के दौरान जिलाधिकारी अनुराग यादव, सीडीओ संजय कुमार भी मौजूद रहे।