प्रधान व सचिव के खिलाफ मुकदमा दर्ज

0
219

मऊ- नरेगा के काम को लेकर एक बार फिर विकास खंड का गांव करही चर्चा में आ गया। खंड विकास अधिकारी दिनकर विद्यार्थी ने करही गांव के प्रधान व सचिव को लगभग तीन लाख रुपयों से ज्यादा के धन की हेराफेरी करने का दोषी बताते हुये थाने में एफआईआर लिखाई है। प्राथमिकी में कहा गया कि ग्राम प्रधान साधना सिंह व ग्राम विकास अधिकारी नारायण सचान ने नरेगा के तहत कराये गये कार्यो के अन्तर्गत जाब कार्डो पर अधिक धन चढ़ाया है जबकि भुगतान कम का किया है।

खंड विकास अधिकारी दिनकर विद्यार्थी के अनुसार प्राथमिकी लिखाने के पीछे कारण साफ रहा कि दोनो ने मिलकर नरेगा के अन्तर्गत कराये गये काम में मजदूरों जाब कार्डो पर धन अधिक चढ़ाया जबकि भुगतान कम का दिया। जिसकी वजह से मजदूर कई बार प्रदर्शन भी कर चुके थे। उन्होंने बताया कि कागजों की जांच के दौरान तीन लाख छह हजार चार सौ बीस रूपया गबन की धांधली पाई गई।

उधर ग्राम प्रधान ने बताया कि बीडीओ के पास छह मजदूर लिखित हलफनामा लेकर गये थे कि उनको पूरी मजदूरी मिल चुकी है पर उन्होंने हलफनामा लेने से इंकार कर दिया।

थानाध्यक्ष चिरंजीव मोहन ने कहा कि मामला गबन व धोखाधड़ी के आरोपों में दर्ज कर लिया गया है। विवेचना प्रारंभ कर दी गई है। जल्द ही कार्यवाही शुरू कर दी जायेगी।