प्यार में पागल लोको पायलट ने प्रेमिका संग की ट्रेन से कटकर की आत्महत्त्या

0
74

झांसी। दो बच्चों की मां व उसके ही मकान में किराये से रहने वाले रेलवे लोको पायलेट में ऐसा दिल लगा कि उन्होंने सारी मर्यादाओं को पार करते हुए साथ जीने का फैसला किया, परन्तु जमाने ने उनकी इस मंशा पर पानी फेर दिया तो उन्होंने साथ मरने का फैसला कर लिया और घर से निकलने के उपरान्त मध्य प्रदेश के वसई क्षेत्र में ग्राम मकड़ारी से निकली रेल लाइन पर ट्रेन के आगे आकर आत्महत्या कर ली। वसई थाना पुलिस ने रात के तकरीबन दो बजे दोनों के शवों को उठाकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा और दोनों के परिजनों को भी सूचना दी।
कोतवाली थाना क्षेत्र के दतिया गेट बाहर नकटा चौपड़ा निवासी ३० वर्षीया नीलू साहू पत्नी रवि साहू ने तकरीबन १२ वर्ष पहले प्रेम विवाह किया था और उनके दो बच्चे है। दोनों का सुखी जीवन चल रहा था। उधर बंगलाघाट पारेश्वर मोहल्ला निवासी २३ वर्षीय नवीन साहू पुत्र जगदीश साहू अपना पैतृक घर छोड़कर तकरीबन दो वर्ष पूर्व नकटा चौपड़ा स्थित रवि साहू के घर किराये से रहने के लिए आ गये। इसी दौरान नीलू साहू व नवीन साहू में प्रेम हो गया और दोनों के बीच गुपचुप तरीके से प्रेम सम्बन्ध चलते रहे। रवि साहू के भाई की शादी होने के कारण तकरीबन १० माह पूर्व नवीन को मकान खाली किया और उसके ही घर के सामने किराये से कमरा लेकर रहने लगे। नौ माह पूर्व नवीन की रेलवे में असिस्टेंट लोको पायलट के पद पर नौकरी लग गई और उसकी नियुक्ति वीना में हो गई। नौकरी लगने के बाद उसका रिश्ता भी तय हो गया, परन्तु उम्र व समाज की सारी सीमायें पार कर चुके युवक को सिर्फ अपनी प्रेमिका के साथ ही जीवन व्यतीत करना था। जब उन्हें अपनी इस इच्छा की पूर्ति होना असम्भव लगा तो उन्होंने साथ मरने की ठान ली। जिसके चलते २९ नवम्बर की दोपहर युवती ने अपने सारे जेवर, मंगलसूत्र आदि घर में उतारकर रख दिया और अपने दोनों बच्चों से मूंह फेरकर बिना कुछ कहे चली गई। उधर युवक भी ड्यूटी से आ गया। इसके बाद दोनों का कही पता नही चला। रात के तकरीबन नौ बजे वसई थाना के निरीक्षक शंशाक शुक्ला को सूचना मिली कि वसई थाना क्षेत्र के मकड़ारी के जंगल में रेल लाइन पर युवक-युवती के शव पड़े हैं। सूचना मिलने पर वह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और घटना स्थल की जांच पड़ताल की। इसके उपरान्त मृतकों के पास मिले मोबाइल से उनके परिजनों को फोन लगाया। जिस पर मृतक युवक व युवती की शिनाख्त हुई। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। उधर जानकारी होने पर दोनों के परिजन पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे तथा दोनों के परिजन शवों को लेकर झांसी आये और अंतिम संस्कार कर दिया।
मरने से पूर्व युवक ने परिवार के लोगों को किया फोन
वसई थाना निरीक्षक शशांक शुक्ला ने बताया कि पूछताछ में मृतक नवीन के परिजनों ने बताया कि रात के समय नवीन अपने घर से यह कहकर निकला कि वह ड्यूटी पर बीना जा रहा है, जहां से उसे गाड़ी लेकर जाना है। घर से निकलने के बाद एक घण्टें बाद नवीन ने परिजनों को फोन किया और कहा कि उसके शव को लेने के लिए गाड़ी भेज देना। इससे पहले परिवार के लोग कुछ कह पाते, नवीन ने मोबाइल बन्द कर दिया।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY