पेड़ बचे नहीं ट्री गार्ड धराशायी

0
216

बांदा- वृहद वृक्षारोपण अभियान सफल होने का दावा कर जिला प्रशासन भले ही अपनी पीठ ठोंक रहा हो, मगर अधिकतर पौधे नदारद हैं। मुख्यालय में ही रोपे गये पौधे पनप नही सके। और तो और उनकी सुरक्षा के लिये बनाये गये ट्री गार्ड भी देखरेख के अभाव में धराशायी हो गये हैं।

बुंदेलखड को हरा-भरा बनाने के लिये शासन ने करोड़ों रुपये का बजट गत वर्ष दिया। अकेले जनपद में करीब 87 लाख पौधे कई विभागों की जिम्मेदारी में सड़क किनारे से लेकर गांव-गलियों तक रोपे गये। लेकिन इनकी सुरक्षा व देखरेख के लिये पुख्ता इंतजाम न किये जाने से यह पनपने से पहले ही मर गये। वर्तमान में देखा जाये तो आधे से ज्यादा पौधे अपनी जगह से गायब हैं और उनकी सुरक्षा पर बनाये गये ट्री गार्ड भी धराशायी हो गये हैं।