पुल से ट्रक गिरने की तीसरी घटना

0
115

हमीरपुर –  खस्ताहाल मार्ग व कमजोर रेलिंग के सहारे बने पुलों के कारण आये दिन दुर्घटनाएं होतीं रहतीं है। इस तरफ न तो जिला प्रशासन कोई कदम उठाता है और न शासन ही रुचि ले रहा है।

बेतवा और यमुना नदी के पुल से रोजाना मौरंग, गिट्टी लेकर हजारों की संख्या में ट्रक निकलते हैं। इन खस्ताहाल मार्गो पर लापरवाह ट्रक चालक फर्राटा भरते है। जिसके कारण आये दिन दुर्घटनाएं होती हैं। वर्ष 2009 में यह तीसरी घटना है जब ट्रक पुल की रेलिंग तोड़कर नदी में गिरा है। इनमें से दो घटनाएं यमुना नदी में हुई हैं और एक बेतवा में। दुर्घटना के बाद ट्रक की खोज और उसमें सवार यात्रियों का पता लगाने के लिए स्थानीय अप्रशिक्षित लोगों का सहारा लिया जाता है। पुल में रोशनी न होना भी दुर्घटना का कारण बनता है। मगर सबसे महत्वपूर्ण प्रशिक्षित गोताखोरों की जरूरत है। पुलिस अधीक्षक सूर्यनाथ सिंह ने माना कि गोताखोर और ट्रकों को निकालने के लिए अलग से भारी क्रेन मशीन की व्यवस्था होनी चाहिए। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इसके लिए वे शासन को पत्र लिखेंगे।