पुराने अभियुक्त होंगे चिन्हित

0
114

प्रदेश में बढ़ रहे अपराधों से निपटने के लिए शासन ने नया तरीका निकाला है। हत्या, प्राणघातक हमला व दुष्कर्म के दस साल पुराने मामलों की जांच होगी। इन प्रकरणों के अभियुक्तों को थाने में बुलाकर बातचीत की जाएगी। साथ ही उन्हें दो-दो लाख रुपये की धनराशि से पाबंद किया जाएगा। यह फैसला वादी अथवा गवाहों से धमकाए जाने की मिल रही शिकायतों के मद्देनजर लिया गया है।

शासन ने अपराधियों पर अंकुश लगाने और लोगों को न्याय दिलाने के लिए नया फार्मूला ईजाद किया है।  जिले की पुलिस अब पिछले दस साल के दौरान हुई हत्या, प्राणघातक हमले व दुष्कर्म के मामलों को छांट रही है। देखा जा रहा है कि कितने मामले अभी भी अदालतों में विचाराधीन हैं। इन प्रकरणों में आरोपित लोगों की वर्तमान में क्या स्थिति है और मुकदमा के वादी के प्रति किस तरह का व्यवहार है? पीड़ित पक्ष द्वारा समय – समय पर गवाह व वादी को बयान देने पर धमकी दी जाती है। इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लगाने और अधिक से अधिक मामलों में आरोपियों को सजा दिलाने के लिए नए सिरे से काम होगा। सभी प्रकरणों के आरोपियों को थाने में बुलाकर बातचीत की जाएगी और उनसे दो – दो लाख रुपये के मुचलके भरवाए जाएंगे। मुचलका भरने के बाद उन्हें इस ताकीद के साथ छोड़ा जाएगा कि वह अदालत में वांछित प्रकरण के वादी, पीड़ित पक्ष अथवा गवाह को किसी भी तरह से न तो उत्पीड़ित करेंगे न ही धमकाएंगे। यदि इस तरह के प्रकरण संज्ञान में आते हैं तो पाबंद की गई धनराशि को तो जब्त किया ही जाएगा, साथ ही प्रकरण दर्ज करते हुए सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। मंडल के जालौन व ललितपुर जनपद में तो करीब साठ फीसदी आरोपियों से मुचलके भरवा लिए गए हैं।

Vikas Sharma
Editor
www.upnewslive.com ,
www.bundelkhandlive.com ,
E-mail : vikasupnews@gmail.com,
editor@bundelkhandlive.com
Ph- 09415060119

NO COMMENTS