पसीने से भीगा लोकतंत्र

0
176

ग्वालियर-चम्बल संभाग की चार संसदीय सीटों के लिए गुरुवार को छिटपुट हिंसा के बीच लगभग 43 प्रतिशत मतदान हुआ।
मतदान केंद्रों पर अपना दबदबा कायम रखने को लेकर जहां मुरैना जिले में चार स्थानों पर और भिंड जिले में एक स्थान पर फायरिंग में पांच लोग घायल हुए हैं, वहीं शिवपुरी जिले में ग्वालियर के कांग्रेस प्रत्याशी पुलिस कार्रवाई के खिलाफ धरने पर बैठे। इस बीच अंचल के करीब 20 गांवों में मतदान के बहिष्कार की खबर है।
मतदान पर गर्मी का असर साफ नजर आया। मतदान प्रतिशत की अधिकृत घोषणा संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारियों द्वारा जोनल अधिकारियों से मतदान केंद्रवार जानकारी मिलने के उपरांत ही की जा सकेगी।
मुरैना-श्योपुर सीट सबसे अधिक अशांत रही। सुमावली विधानसभा के कांसपुरा मतदान केंद्र पर सुबह साढ़े 11 बजे दलितों की फायरिंग में भाजपा का एक पोलिंग एजेंट सरनाम सिंह घायल हो गया। हालांकि खुलेआम हुई फायरिंग की इस घटना से पुलिस देर शाम तक पल्ला झाड़ती रही। सुमावली के कांग्रेस विधायक एंदल सिंह कंषाना ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि भाजपा कार्यकर्ता दलित वर्ग के लोगों को वोट डालने से रोक रहे थे, इस कारण संघर्ष की स्थिति निर्मित हुई।
ग्राम सबसुखपुरा में उपद्रव की स्थिति नियंत्रित करने के लिए पुलिस को फायरिंग करना पड़ी। इसमें विश्वनाथ सिंह तोमर नामक एक युवक घायल हो गया। घायल युवक का कहना है कि वह मतदान करने गया था इसी बीच पुलिस की गोली उसके पैर में आकर लगी।
देवगढ़ थाना क्षेत्र के गुढ़ा चंबल गांव में भाजपा और बसपा समर्थकों के बीच दोपहर दो बजे फायरिंग हो गई। इसमें भाजपा के सूबेदार सिंह सिकरवार के सीने में गोली लगी है। उन्हें उपचार के लिए ग्वालियर रैफर किया गया है। माता बसैया थाना क्षेत्र के गांव नाका में कुछ लोगों ने दहशत फैलाने के लिए फायरिंग कर दी लेकिन इस फायरिंग में किसी के घायल होने की सूचना नहीं है।
नगरा थाना क्षेत्र के गांव नगरा में भी मतदान केंद्र पर कब्जे की शिकायत के चलते कुछ समय के लिए मतदान बंद रहा। इससे पूर्व फर्जी मतदान को लेकर खांडोली में सुबह 9.30 बजे पथराव हो गया। इसमें एनएसयूआई के 6 कार्यकर्ता घायल हो गए।
भिंड के लहार क्षेत्र में जगनपुरा बूथ पर मतदान शुरू होने के पहले ही 200 से ज्यादा वोट डाल दिए गए। प्रशासन ने कांग्रेस पार्षद राजेश दोहरे और अरविंद उर्फ पप्पू सहित पांच लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दे दी है। यहां सुबह सात बजे मतदान शुरू होने के पहले 207 वोट ईवीएम में डाले जा चुके थे। बाद में एसडीएम और अन्य अधिकारी यहां पहुंचे और ईवीएम में डाले गए मतों को हटाकर मतदान को शुरू कराया गया।
भिंड जिले के ऊमरी थाना क्षेत्र के ग्राम चरी कनावर में पोलिंग को लेकर हुए विवाद में गोली चलने से कांग्रेस के पोलिंग एजेंट गणोश सिंह भदौरिया घायल हो गए। गोली उन्हें पैर में लगी है। घायल अवस्था में उन्हें जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, सुबह 9.30 बजे शांतिपूर्ण मतदान चल रहा था तभी यहां दो गाड़ियों में भरकर कुछ लोग आए और उन्होंने गणोश सिंह (36)पुत्र रणवीर सिंह निवासी चरी को पोलिंग बूथ से बाहर खींचकर पहले मारपीट की फिर कट्टे से पैर में गोली मार दी।
घायल गणोश सिंह के भतीजे व जिला युवक कांग्रेस के अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह भदौरिया ने आरोप लगाया है कि गोली भाजपा विधायक अरविंद सिंह भदौरिया व उनके समर्थकों ने चलाई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सिद्दार्थ चौधरी ने घटना को पोलिंग केन्द्र से बाहर होना बताया।