पत्रकार उत्पीडन के विरोध में हजारो पत्रकारों का प्रदर्शन पर

0
182

vlcsnap-2012-09-25-18h09m19s39आरपीएफ सिपाहियों ने कवरेज को गये ललितपुर के पत्रकारों के साथ जमकर अभद्रता की। विरोध करने पर सिपाहियों ने गुंडई दिखाते हुए तीन पत्रकारों को लॉकअप में डाल दिया था इस घटना से पत्रकारों में आक्रोश फैल और धटना की जानकारी पर रेलवे के अफसरों के दखल के बाद पत्रकारों को रिहा किया गया, जिससे सभी पत्रकारों में आक्रोश फैल गया। इस घटना के  में आज झाँसी में मंडल के सभी पत्रकारों ने श्रमजीवी प्रेस क्लब झाँसी के सहयोग से ग्रामिण पत्रकार संघ और झाँसी  ललितपुर जालोन के सहर और ग्रामिण पत्रकारों ने एक मंच पर आकार
पत्रकारों ने झाँसी के एलाएट चोराहे पर हजारो की संख्या में धरना दिया और गाँधी टोपी पहन कर हाथो में काली पट्टी बांध कर एलाएट चोराहे से पैदल मार्च कर मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय पहुच कर डी आर एम् का घेराव कर प्रधार्शन किया  श्रमजीवी प्रेस क्लब झाँसी के महा सचिव विकास कुमार शर्मा और श्रमजीवी पत्रकार यूनियन झाँसी के जिला अध्यक्छ केलाश चन्द्र जैन ,रघुवीर शर्मा रामकुमार साहू ने मिलकर डीआरएम् नवीन चोपड़ा को ज्ञापन दिया और आरोपी आरपीएफ सिपाहियों पर कड़ी कारवाही करते हुए हटाने की मांग की पत्रकारों के प्रदर्शन में नगर विधायक रवि शर्मा और पूर्व विधायक कांग्रेश नेता ब्रजेन्द्र व्यास भी मोजूद रहे
घटना यह हुई
vlcsnap-2012-09-25-18h10m22s15914 अक्टूवर को  आरपीएफ ललितपुर थाना पुलिस ने बिजली के तार काटने वाले एक बदमाश को बंदी बनाया था। इस संबंध में विवरण लेने गए एक दैनिक समाचार पत्र के संवाददाता की आरपीएफ थाना परिसर में मौजूद सिपाहियों के साथ कहासुनी हो गई। सिपाहियों ने संवाददाता को हिसारत में ले लिया। घटनाक्रम की सूचना पाकर उक्त समाचार पत्र के दो और वरिष्ठ संवाददाता आरपीएफ थाने पहुंच गए। कवरेज करने को लेकर उनकी भी थाने में मौजूद सुरक्षा कर्मियों से तीखी नोकझोंक हो गई। देखते ही देखते विवाद बढ़ गया और आरपीएफ कर्मियों ने तीनों संवाददाताओं के साथ अभद्रता व मारपीट की और लॉकअप में बंद कर दिया। जानकारी पाकर अन्य पत्रकार मौके पर पहुंच गए और विरोध जताया। तब जाकर तीनों संवाददाताओं को लॉकअप से बाहर निकाला गया। मौके पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी सदर एसके शुक्ल व नायब तहसीलदार अवधेश निगम ने मामले की छानबीन की तथा तीनों संवाददाताओं को लेकर कोतवाली सदर गए। कोतवाली सदर में तीनों संवाददाताओं ने तहरीर देकर आरोप लगाया कि आरसीएफ कर्मी जीएल यादव, संतोष कुमार भगत, उमेश यादव व 15 अज्ञात कर्मियों ने उन पर रायफल के कुंदों से हमला किया और चेन व मोबाइल फोन लूट लिए। कोतवाली पुलिस ने तीनों संवाददाताओं को चिकित्सीय परीक्षण के लिए जिला संयुक्त चिकित्सालय भेजकर मामले की पड़ताल शुरू कर दी है।

Vikas Sharma
Editor
www.upnewslive.com ,
www.bundelkhandlive.com ,
E-mail : vikasupnews@gmail.com,
editor@bundelkhandlive.com
Ph- 09415060119