निर्माण एजेंसियों से रेन वाटर हार्वेस्टिंग राशि वापस ली जाएगी

0
179

सागर- सर्व शिक्षा के स्कूल भवनों में रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम विकसित न होने पर निर्माण एजेंसियों से राशि वापस लिए जाने का निर्णय लिया गया है। एजेंसियों की लापरवाही के कारण 100 से अधिक नए स्कूल भवनों में दो साल बाद भी वाटर हार्वेस्टिंग संरचना नहीं बनी हैं। जिनमें यह संरचनाएं बनवाई गई हैं वे फिलहाल आधी-अधूरी ही हैं।

भवनों में इस सिस्टम को विकसित करने के लिए निर्माण एजेंसियों से जुड़े सरपंचों और सचिवों को 17000 रुपए मिले थे। सर्व शिक्षा के स्कूल भवनों में पहली बार रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम विकसित कराने का निर्णय दो वर्ष पहले लिया गया था। जिसमें सरंपचों एवं सचिवों की लापरवाही आड़े आ रही है। साल भर के दौरान जनपद शिक्षा केन्द्र के सब इंजीनियरों द्वारा एजेंसियों को कई नोटिस दिए गए हैं।

फिर भी उन्होंने बारिश के पानी को जमीन के अंदर ले जाने के लिए भवनों में संरचना नहीं बनवाई। जिला शिक्षा केंद्र के सहायक यंत्री बीएस पांडे का कहना है कि अब सरपंचों और सचिवों से हार्वेस्टिंग राशि वापस लेकर विभाग स्वयं स्कूल में संरचना विकसित कराएगा। फिलहाल आधे-अधूरे स्कूल भवनों के प्रकरण एसडीएम कोर्ट के हवाले किए गए हैं। यहां भी सरपंच-सचिव काम पूरा कराने के बजाए और समय मांग रहे हैं।

स्कूल भवनों में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम विकसित करने के पीछे शिक्षा केंद्र की मंशा यह भी है कि इससे बच्चे भी पानी की बचत करना सीखेंगे। वे अपने घरों में भी वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनवाने के लिए पालकों पर जोर डालेंगे।