निर्धारित दर से अधिक दाम वसूले जा रहे हैं अंग्रेजी व देशी ठेकों पर

0
178

विभागीय लोगों की अनदेखी के चलते जहां एक ओर जिले में एक बड़े पैमाने पर अवैध कच्ची शराब का धंधा चल रहा है वहीं दूसरी ओर देशी व अंग्रेजी शराब की दुकानों में लोगों को निर्धारित दर से अधिक दाम देकर अपना शौक पूरा करना पड़ रहा है। लोगों का कहना है कि ठेकों में निर्धारित दर से अधिक दाम पर बिकने वाली शराब से होने वाली कमाई में सम्बंधित लोगों का भी हिस्सा होने के कारण ही दुकान संचालकों पर कोई कार्रवाई नहीं होती। लोगों ने उच्चाधिकारियों से अधिकदाम पर शराब बेंचने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

गौरतलब है कि जिले के शहरी व ग्रामीण इलाकों में एक बड़ी मात्राा में अवैध कच्ची शराब का धंधा जोरों पर चल रहा है। इसके बावजूद भी विभागीय लोग इस ओर से अपनी आंखे बन्द किए हुए हैं। हां इतना जरूर है कि जिला पुलिस कभी-कभी अभियान चला कर अवैध कच्ची शराब का धंधा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करती है। सूत्राों की माने तो इस अवैध धंधे के चलते सरकारी राजस्व को अच्छी खासी चपत लगती है। वहीं दूसरी ओर देशी व अंग्रेेजी सरकारी ठेकों की दुकानों “अंगूर की बेटी´´ का लुत्फ उठाने वाले लोगों को निर्धारित दर से ज्यादा दाम देकर ही अपना शौक पूरा करना पड़ता है। इतना ही नहीं शराब के शौकीनों से लगनों आदि के समय में भरपूर दाम वसूल कर मोटी कमाई करते हैं। ऐसा नहीं है कि ठेकेदारों द्वारा दुकानों में ´´ओवर रेट´´ लिए जाने की शिकायत लोगों ने अधिकारियों से न की हो। लेकिन इसके बाद भी कोई कार्रवाई न की गई। लोगों का तो यहां तक कहना हे कि अधिकदाम में शराब बेचने से होने वाली अच्छी खासी कमाई में सम्बंधितों का हिस्सा होता है। जिसके कारण इनके खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया जाता। सूत्राों का कहना है  जिले में अंग्रेजी व देशी शराब के ठेकेदार शराब की बोतलों में लगे रैपरों से छपेदाम किसी तरह मिटा देते हैं और मनमाने दाम लिख देते हैं। जिसके चलते कोई बिरला ही इसे चेक कर पाता है और ये लोग अपनी कारस्तानी को बाखूबी अंजाम देते हुए अपनी जेबें भरते हैं। लोगों ने सम्बंधित उच्चाधिकारियों से निर्धारित दाम से अधिक दाम पर शराब बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं इस सम्बंध में जिला आबकारी अधिकारी का कहना है कि अंग्रेजी व देशी शराब की दुकानों में निर्धारित दामों पर ही शराब बिकती है। यदि किसी ठेकेदार की शिकायत आई तो कार्रवाई की जाएगी।