नरेगा में गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई

0
107

ललितपुर- ग्रामीण रोजगार गारन्टी योजना (नरेगा) के सही क्रियान्वयन के उद्देश्य से तहसील दिवस की तर्ज पर माह के प्रथम बुधवार को नरेगा दिवस का आयोजन प्रारम्भ हो गया है। जिलाधिकारी रणवीर प्रसाद की अध्यक्षता में तहसील के सभागार में आयोजित प्रथम नरेगा दिवस में कुल 21 प्रार्थनापत्र आये। इनमें से 8 का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया। शिकायती पत्र सम्बन्धित विभाग को सौंपते हुये जिलाधिकारी ने दो दिनों के भीतर निस्तारण के निर्देश दिये।

इस अवसर पर बोलते हुये जिलाधिकारी ने बताया कि ऐसा देखा जा रहा था कि नरेगा कार्य का क्रियान्वयन सही ढ़ग से नहीं हो पा रहा था, गरीब मजदूरों को या तो मजदूरी नहीं मिल पा रही थी या फिर की गयी मजदूरी का पैसा उन तक नहीं पहुच रहा था। इस उद्देश्य से शासन ने माह के प्रथम बुधवार को नरेगा दिवस का आयोजन रखा है। इस हेतु एक नरेगा निगरानी समिति गठित की गयी है जिसके अध्यक्ष उपजिलाधिकारी तथा खण्ड विकास अधिकारियों सहित नरेगा से सम्बन्धित विभागों के तहसील स्तरीय अधिकारी उसके सदस्य होंगे। डी.एम. ने निगरानी समिति के सदस्यों को निर्देशित करते हुये कहा कि वे ऐसे मजदूरों की सूची तैयार करे जिन्हे अभी तक काम नहीं मिला है और जिन्होंने काम तो किया है पर पूरी मजदूरी अभी तक नहीं मिल सकी है। नरेगा दिवस में आये प्रार्थनापत्रों की बारीकी से जाच करे और दोषीजनों के विरूद्ध आवश्यक कार्यवाही अमल में लायें। इस कार्य में किसी भी तरह की उदासीनता क्षम्य नहीं होगी।

इस अवसर पर उपजिलाधिकारी जी.राम, तहसीलदार यू.पी. सिंह, खण्ड विकास अधिकारी विकास मिश्र, मत्सनाथ त्रिवेदी, ए.ई. सिंचाई ओमप्रकाश आदि उपस्थित थे।

NO COMMENTS