नरेगा का सोशल ऑडिट 14 से शुरू होगा

0
211

ललितपुर- जिलाधिकारी पवन कुमार ने राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना में पारदर्शिता बनाये रखने के लिए सोशल ऑडिट के सम्बन्ध में रोस्टर जारी किया है। माह जुलाई में विभिन्न तिथियों में ग्रामों का सोशल आडिट दिशा निर्देशों के तहत करने के आदेश जारी किये गये है। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारियों को सोशल आडिट के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी ग्रामीणों को देने के निर्देश दिये है। आडिट के समय नरेगा के अन्तर्गत कराये गये कार्यो से सम्बन्धित सम्पूर्ण ब्यौरा सहित कर्मचारियों की उपस्थिति बनाये रखने को भी कहा गया।

राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारटी योजना के तहत जॉब कार्ड धारक मजदूरों को सौ दिन का रोजगार दिया जाता है। जिलाधिकारी ने योजना में पारदर्शिता के लिए शासन के निर्देशों के क्रम में आडिट कराने की तिथिया निर्धारित की है। विकास खण्ड मड़ावरा की ग्राम पंचायत दिदौनिया का सोशल आडिट जिलाधिकारी 21 जुलाई को करेगे। विकास खण्ड बार के ग्राम बड़ोखर में अपर जिलाधिकारी 21 जुलाई को, तालबेहट के पवा में मुख्य विकास अधिकारी 14 जुलाई को, विरधा के पटसैमरा में मुख्य विकास अधिकारी 16 जुलाई को सोशल आडिट करेगे। इसी तरह इसी विकास खण्ड के ग्राम धौर्रा में नरेगा का सोशल आडिट परियोजना निदेशक 18 जुलाई को करेगे। विकास खण्ड महरौनी के ग्राम पंचायत जखौरा का सोशल आडिट 20 जुलाई को परियोजना निदेशक करेगे। विकास खण्ड मड़ावरा के ग्राम धवा में 22 जुलाई को जिला विकास अधिकारी, बार के अजनौरा में 24 जुलाई को जिला विकास अधिकारी, जखौरा के पिपरा में उप जिलाधिकारी, तालबेहट के थाना ग्राम पंचायत का सोशल आडिट 25 जुलाई को उप जिलाधिकारी करेगे। इसी तरह विकास खण्ड महरौनी के ग्राम अगौरी का सोशल आडिट 25 जुलाई को उप जिलाधिकारी महरौनी करेगे।

जिलाधिकारी ने उक्त तिथियों के क्रम में अधिकारियों को निर्देशित किया कि सोशल आडिट के दौरान नरेगा के अन्तर्गत कार्य करने वाले सभी श्रमिकों की अनिवार्य रूप से जॉब कार्ड सहित उपस्थिति सुनिश्चित बनाई जाए। सोशल आडिट की वीडियो ग्राफी खण्ड विकास अधिकारी नरेगा की कंटीजेंसी से करायेंगे। इस कार्यक्रम की सीडी मुख्य विकास अधिकारी कार्यालय में रखी जायेगी। सम्बन्धित क्षेत्रों में कार्यरत स्वयं सेवी संस्थाओं की भी सहभागिता सुनिश्चित बनाने को कहा गया। जिलाधिकारी ने जारी दिशा निर्देशों में कहा कि खण्ड विकास अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों की ग्राम पंचायतों में आयोजित होने वाले सोशल आडिट के सम्बन्ध में ग्रामीणों को विस्तृत जानकारी दें ताकि आडिट के दौरान सही स्थिति सामने आ सके।