देर रात तक हुई आवेदकों की नापजोख

0
236

उरई – पुलिस भर्ती में शारीरिक परीक्षण के लिए आये अभ्यर्थियों को शुक्रवार रात साढ़े ग्यारह बजे तक अपने नंबर के इंतजार में पुलिस लाइन में मौजूद रहना पड़ा। आपरेटरों के दिन भर जूझने के बाद शाम को कम्प्यूटर चालू हो सके। इसके बाद नापजोख का काम शुरू हुआ।

प्रदेश में पैंतीस हजार पुलिस कर्मियों की नई भर्ती होनी है। इस बार उरई को भी भर्ती केंद्र बनाया गया है। पहले चरण में अभ्यर्थियों की शारीरिक नाप जोख की जानी है। इस बार भर्ती में ई रिक्रूटमेंट तकनीक अपनाई गई है। जिसमें आवेदक का पूरा ब्योरा कम्प्यूटर में फीड किया जा रहा है। लेकिन पहले दिन ही इस तकनीकी ने अधिकारियों को परेशान कर दिया। पहले कम्प्यूटर पर साफ्टवेयर अपलोड करने में माथापच्ची करनी पड़ी और बाद में सर्वर डाउन हो गया जिससे अभ्यर्थियों की नापजोख शुरू नहीं हो सकी। शाम पांच बजे के बाद सिस्टम सही हो सका। इसके बाद नापजोख शुरू हुई और रात साढ़े ग्यारह बजे यह 160 अभ्यर्थियों की नापजोख की गई। वैसे एक दिन में 200 लोगों की नापजोख होनी है लेकिन तमाम आवेदकों के कागज सही नहीं होने से फार्म रिजेक्ट कर दिए गए। शुक्रवार को जरूर दिन सुबह से ही सिस्टम दुरुस्त होने से व्यवस्थित तरीके से कालपी सीओ और एसडीएम की देखरेख में नाप जोख का काम होता रहा।