दुकान हटाए जाने के डर से वृद्ध दुकानदार की हुई मौत

0
148

अतिक्रमण अभियान की मुनादी होने पर हो गया था चिन्तित
आक्रोशित लोगों ने लगाया स्टेशन रोड में जाम

“ दादू रे ! मोर दुकान हटा दीन जई तो मैं का करिहों“ नगर पालिका द्वारा अतिक्रमण हटाने के लिए कराई गई मुनादी के बाद स्टेशन रोड में चाय की गुमटी रख अपनी आजीविका चलाने वाला वृद्ध ने इसी सोच में अपनी सारी रात गुजार दी। और सुबह होते ही दुकान हटा दिए जाने के डर से उसके प्राण पखेरू उड़ गए। अक्रोशित लोगों ने उसका शव रोड मेंं रख जाम लगा दिया। जाम की खबर सुन मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने किसी तरह लोगों को समझा बुझा कर जाम खुलवाया और मृतक का पंचनामा भर पोस्ट मार्टम के लिए शव को जिला अस्पताल भिजवा दिया।

गौर तलब है कि जिला मुख्यालय स्थित स्टेशन रोड में सड़क के किनारे ेस्थित दुकानों के दुकानदारों द्वारा धतुुराहा चौराहे से ही दोनों ओर अतिक्रमण शुरू कर दिया जाता है। जिसमें कुछ रुतबेदार भी शामिल हैं। इसके अलावा सड़क के दोनों ओर सब्जी , चाय आदि की छोटी-छोटी दुकानें भी लोगों द्वारा लगा कर अपना खर्चा चलाया जा रहा है। जिससे स्टेशन आने जाने वाले लोगों को काफी दिक्कतें होती हैं। अतिक्रमण के कारण लगने वाले जाम में फंस कर अक्सर लोगों की गाड़ियां तक छूट जाती हैं। लोगों को जाम से निजात दिलाने के लिए प्रशासन के निर्देशन पर नगरपालिका के लोग यदा-कदा अभियान चला कर स्टेशन रोड का अतिक्रमण हटवा देते हैं। स्टेशन रोड के दुकानदारों ने बताया कि  गुरुवार की शाम भी नगर पालिका ने मुनादी कर दुकानदारों से अपना अतिक्रमण हटा लेने की चेतावनी दी थी। साथ ही यह भी मुनादी करवाई थी कि जो भी अतिक्रमण करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जिसके चलते छोटे-बड़े दुकानादारों में हड़कंप मच गया और लोग जल्दी-जल्दी अपना टीन-टप्पर समेटने लगे। लोग बताते हैं कि इसी बीच स्टेशन के पास ही छोटी सी चाय की दुकान से जीवन बसर करने वाले कल्लू पाठक 50 पुत्रा राधेश्याम पाठक निवासी बघौड़ा को भी इसकी जानकारी हुई तो वह चिन्ताग्रस्त हो गया। और लोगों से बस यही कहता रहा “ दादू रे ! मोर दुकान हटा दीन जई तो मैं का करिहों“। लोग बताते हैं कि रात भर वह इसी चिन्ता में इधर-उधर टहलता रहा। जबकि रिक्शा चालक उसके भाई रोहित ने बताया कि  दुकान हटाए जाने के डर से वह रात भर नहीं सो सका और शुक्रवार की सुबह ही उसने दम तोड़ दिया। उसके मरने की खबर आग की तरह पूरे मोहल्ले में फैल गई और आनन-फानन लोग वहां जमा होने लगे। आक्रोशित लोगों ने स्टेशन रोड में जाम लगा कर नारेबाजी शुरू कर दी। जाम की खबर मिलते ही कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहुंच लोगों को समझा बुझा कर जाम खुलवाया और शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।

अतिक्रमण के नाम पर होती है केवल खानापूरी

जिला मुख्यालय के कर्वी राजापुर सहित स्टेशन रेाड में ही जिले का मुख्य बाजार स्थित है। जिसके कारण एक बड़ी संख्या में यहां छोटे-बड़े दुकानदार अपना धंधा चलाते हैं। जो एक दूसरे से ज्यादा बिक्री करने के चक्कर में सड़क के किनारे तक अतिक्रमण कर अपनी दुकान का सामान फैला देते हैं। साथ ही सैकड़ों की तादाद में सब्जी फरोश व छोटी-छोटी चाय की गुमटियां चला अपना गुजर बसर करने वाले लोग भी सड़क के किनारे अतिक्रमण कर लेते हैं। जिसके कारण लोगों को आने जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। खास कर स्टेशन जाने वाले लोग तो जाम में फंस कर अक्सर अपनी गाड़ी तक छुड़वा बैठते हैं। लोगों को जाम सेा निजात दिलाने के लिए जिला प्रशासन के निर्देश पर नगर पालिका द्वारा समय-समय पर अभियान चला कर अतिक्रमण हटवाया जाता है। लेकिन अभियान ढीला होते ही फुटपाथों पर फिर से लोग कब्जा जमा लेते हैं। जबकि यहां छोटी-छोटी दुकान लगा कर अपनी रोजी कमाने वाले लोगों का कहना है कि अतिक्रमण हटाने के नाम पर सम्बंधित लोगों द्वारा केवल खानापूरी ही की जाती है। अभियान का शिकार गुमटी वाले और ठेलिया लगाकर धंधा करने वालों को ही बलि का बकरा बनाया जाता है। जबकि इस रोड पर अधिकतर अतिक्रमण असरदार लोगों द्वारा किया गया है। उधर इन अरोपों को नकारते हुए सम्बंधित अधिकारियों का कहना है कि अतिक्रमण करने वाला चाहे कोई भी हो सभी के खिलाफ कार्रवाई की जाती है।

16ckt4t
वृद्ध के शव को बीच में रख रेाड जाम किए आक्रोशित लोग

NO COMMENTS