दस्यु संजय यादव गैंग का हार्ड कोर सदस्य पुलिस की गिरफ्त में

0
174

मानिकपुर – संजय के बाद सम्भाल रहा था गैंग की कमान

पुलिस ने काली घाटी व माराचन्द्रा पत्थर खदानों में दस्यु संजय यादव के साथ कहर बरपाने वाले छेदी यादव को जंगलों में गश्त के दौरान गिरफ्तार करने में सफलता पाई है। पुलिसिया सूत्रा बताते हैं कि दस्यु संजय के मारे जाने के बाद से यह गैंग को एकजुट कर अभी भी चौथ वसूली का काम रहा था।

सरैयां चौकी प्रभारी पंकज पाण्डेय ने बताया कि वे पुलिस बल के साथ जंगल में सर्चिंग कर रहे थे। तभी उन्हें जानकारी मिली की दस्यु संजय यादव का मामा छेदी यादव निवासी गढ़ा कोलान काली घाटी की पत्थर खदान में मालिकों से चौथ वसूली करने आया है। जिसके आधार पर उन्होंने गुरुवार की शाम पुलिस पार्टी लेकर काली घाटी की घेराबन्दी की। जहां पुलिस को देख उसके साथ के कई लोग तो भाग निकले लेकिन छेदी को दौड़ा कर दबोच लिया गया। एसओ श्री पाण्डेय ने बताया कि छेदी दस्यु यादव गैंग का हार्डकोर सदस्य था। जिसने कुछ समय पूर्व संजय के साथ मिल  कर काली घाटी व माराचन्द्रा की पत्थर खदानों में अंधाधुंध फायरिंग कर मजूदरों की पिटाई कर कहर बरपाया था। साथ ही बिना चौथ दिए खदान में काम न करने की चेतावनी भी दी थी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा यह दस्यु संजय के लिए खदान मालिकों से चौथ वसूली भी करता था।  अब संजय के मारे जाने के बाद खुद ही गैंग की कमान सम्भाल ली थी और छोटी मोटी घटनाओं को अंजाम दे रहा था। पुलिस ने छेदी के ऊपर दस्युप्रभावित क्षेत्रा अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर जेल भेज दिया है।