दलहन व तिलहन बीज पर 12 सौ रुपए अनुदान

0
199

झांसी- राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजना के अन्तर्गत खरीफ में दलहन व तिलहन के अधिक उत्पादन व हरी खाद पर जोर दिया जा रहा है। इसके तहत दलहन व तिलहन के बीज में 12-12 सौ रुपए प्रति कुण्टल का अनुदान और हरी खाद के लिए टैचा व सनई का बीज शत-प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध है।

दलहन व तिलहन की घटती पैदावार की स्थिति को देखते हुए राष्ट्रीय सुरक्षा मिशन के अन्तर्गत दलहन को लिया गया। इसमें उर्द व मूंग की समस्त प्रजातियां, अरहर की अल्पवधि प्रजाति पर प्रति कुण्टल 12 सौ रुपए अनुदान दिया गया है। इसके बाद तिलहन में सोयाबीन, मूंगफली व तिल की समस्त प्रजातियों पर भी इतनी ही अनुदान घोषित कर दिया गया।मक्का संकर पर कोई अनुदान नहीं है जबकि ज्वार व बाजरा संकुल पर दो-दो सौ रुपए अनुदान राज्य सेक्टर से दिया जा रहा है।

खेतों की उर्वरा शक्ति को बढ़ाने के लिए किसानों में हरी खाद का प्रयोग करने पर बल दिया जा रहा है। इसके तहत हरी खाद बनाने में प्रयुक्त होने वाली ढैचा व सनई के बीजों पर शत-प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है।

कृषि विभाग, सहकारिता व एग्रो के भण्डारों पर उक्त सभी प्रकार के उन्नत बीज पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है।बीज की खरीद करते समय उसकी रसीद अवश्य ले लें ताकि अनुदान की जानकारी हो सके।