तेलगांना एक्सप्रेस में आतंकी होने की सुचना पर झाँसी स्टेशन पर ट्रेन को रोककर की गई चेकिंग ..

0
127

झाँसी। सर,तेलगांना में मेरी मां सफर कर रही है। इस ट्रेन में दस से पंद्रह असलहाधारी आतंकी घुस गए हैं। इस सूचना से पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में झाँसी रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को रोककर चेकिंग कराई गई। बाद में मामला दूसरा ही निकला। इसके बाद, पुलिस, रेलवे पुलिस, आरपीएफ और प्रशासनिक अफसरों ने राहत की सास ली है।
नईदिल्ली से चलकर तेलगांना एक्सप्रेस सिकन्दराबाद की ओर जा रही थी। जैसे ही ट्रेन आगरा से गंतव्य स्थान की ओर रवाना हुई, तभी लखनऊ से एक युवती ने यूपी 100 को फोन किया कि सर, दिल्ली से जाने वाली तेलगांना एक्सप्रेस में उसकी मां सफर कर रही है। इस ट्रेन में 10 से 15 असलहाधारी आतंकी घुस गए हैं। इस सूचना से पुलिस महकमें में
हड़कंप मच गया। आनन-फानन में झाँसी पुलिस और प्रशासन के अवगत कराया गया। इसी बीच ग्वालियर को सूचना दी मगर ग्वालियर ने ट्रेन को चेक किया लेकिन सूचना देने वाली युवती की मां गायब मिली। इससे पुलिस और प्रशासन के अफसरों में हड़कंप मच गया। जैसे ही ट्रेन स्थानीय रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर आकर खड़ी हुई तो आरपीएफ, रेलवे पुलिस और सिविल पुलिस ने ट्रेन को घेर लिया। इसके बाद हर कोचों की तलाशी ली गई। तलाशी करते हुए टीम कोच एस-12 में पहुंची। इस कोच में बैठी महिला से एसपी सिटी प्रकाश द्विेदी ने पूछा मैडम आपका नाम पुष्पा देवी है लेकिन महिला कुछ कहने को तैयार नहीं हुई। बाद में फटकार लगाई तो महिला ने बताया कि उसका नाम लता है। इसी बीच पुलिस और प्रशासन के अफसरों ने पुष्पा देवी से कहा कि मैडम जिस तरह की सूचना दी है। वह सूचना गलत है। इस ट्रेन में आतंकी कहां है। यह आप ही बताए। इस तरह की सूचना गलत होती है। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। काफी देर तक वहां पर माथा पच्ची हुई मगर पुलिस व प्रशासन के अफसर कोच से बाहर आ गए। इसके ट्रेन
गंतव्य स्थान के लिए रवाना हो गई।

मेरी बेटी ने दी थी सूचना
पुष्पा देवी का कहना है कि ट्रेन के प्रत्येक कोच भरे हुए थे। गैलरी में लड़के अपना बैग फैलाकर सो रहे थे। शौचालय जाने के लिए काफी दिक्कत हो रही थी। लड़कों से साइड मांगी मगर वह लोग तैयार नहीं हो रहे थे। इस पर कोच में सफर कर रहे लोगों को गुस्सा आ रहा था। गुस्से में आकर उसने लखनऊ में रहने वाली बेटी आशा को फोन किया था कहा कि
कोच में काफी भीड़ है इसलिए काफी दिक्कत हो रही है। इस सूचना के आधार पर उसकी बेटी ने आतंकी छिपे होने की सूचना दी थी।

आखिर कार्रवाई क्यों नही की गई?
इतनी गलत सूचना से प्रदेश व देश में हड़कंप मच गया। गलत सूचना देने के मामले में महिला भी पकड़ी गई मगर एसी महिला के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की गई है। यह एक प्रश्न चिन्ह बनता है। आए दिन कोई न कोई गलत सूचना देकर सिविल पुलिस, रेलवे पुलिस और आरपीएफ का गुमराह कर सकता है। कभी कभार इस तरह की सूचनाएं सही भी निकल सकती हैं मगर जिस तरह से इस प्रकार की सूचना दी गई है। ऐसी महिला के खिलाफ कार्रवाई होना जरुरी है। इस सूचना से यूपी पुलिस की परीक्षा में शामिल होने आ रहे अ यर्थियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। सूचना देने वाली महिला ने इन्हीं अ यर्थियों को उग्रवादी तक कहा है।