डेढ़ किमी दूर से लाते एक बाल्टी पानी

0
60

चित्रकूट। अनुसूचित जाति बस्ती में हैडपंप होने के बावजूद एक परिवार की जिद के चलते दर्जन भर परिवार बूंद-बूंद पानी को तरस रहे है। परेशान लोग लगभग डेढ़ किमी. दूर से पानी लाने को मजबूर है। इसी बात से नाराज लगभग दो दर्जन ग्रामीणों ने मुख्यालय में आकर मंगलवार को प्रदर्शन किया। एडीएम व सीडीओ ने कार्रवाई का आश्वासन देकर ग्रामीणों को विदा कर दिया।

मुख्यालय से सटे ग्राम कालूपुर पाही के ग्रामीण राममनोहर, राजाराम, संजय सिंह, चंद्रकेश, श्रीकेशन, नत्थू, छेदीलाल, रामकृपाल, सुरेश, रेवती रमण, दिनेश चंद्र, कमलेश व राममनोहर ने बताया कि उनके हरिजन मजरे में पेयजल की भीषण समस्या है, कुआं सूख गया है। इकलौता हैडपंप है। जिस पर अनुसचित जाति के ही एक परिवार का कब्जा है। वे लोग किसी को हैंडपम्प से पानी नही भरने देते। जब भी कोई पानी भरने जाता है तो उसके साथ गाली गलौच कर उसे भगा देते है। सरकारी हैडपंप को खुद का निजी हैडपंप बता रहे हैं। मजबूरी में ग्रामीण पिछले एक महीने से डेढ़ किमी दूर बने तालाब से पानी लाकर प्रयोग करते है।

ग्रामीणों ने पहले अपर जिलाधिकारी परमानंद तिवारी को ज्ञापन देकर शिकायत की तो उन्होंने पानी दिलाने का भरोसा दिया। इसके बाद ग्रामीण सीडीओ पी सी श्रीवास्तव से भी मिले। ग्रामीणों ने जब तत्काल पानी दिलाने की जिद की तो सीडीओ ने जल निगम को पत्र लिखकर पानी की व्यवस्था करने को कहा।

NO COMMENTS