डीएम ने नामित किए गेहूं क्रय केंद्रों के जांच अधिकारी

0
269

उरई (जालौन)। जिलाधिकारी पी. गुरुप्रसाद ने शिकायतें मिलने पर गेहूं क्रय केंद्रों की निगरानी के लिए जांच अधिकारी नियुक्त किए है। उन्होंने नामित किए गये जांच अधिकारियों से जांच करके आख्या रिपोर्ट कैंप कार्यालय में प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है।

उल्लेखनीय है कि गेहूं का समर्थन मूल्य घोषित होने के बाद विभिन्न जगहों पर सरकारी गेहूं क्रय केंद्र खोले गये है। कई दिनों से उक्त केंद्रों पर अनियमितताएं बरते जाने की शिकायतें प्राप्त हो रही थीं जिसको लेकर डीएम ने विभिन्न एजेंसियों द्वारा संचालित किए जा रहे गेहूं खरीद केंद्रों में मंडी कालपी व नवाब कोठी कदौरा का जांच अधिकारी अधिशाषी अभियंता नलकूप खंड प्रथम इं. पंकज वर्मा, मंडी परिसर माधौगढ़, रामपुरा, समिति परिसर गोरा भूपका, गोहन, ऊमरी, रूरा सिरसा, चितौरा का जांच अधिकारी अधिशाषी अभियंता बेतवा नहर प्रखंड द्वितीय पीएन वर्मा को बनाया गया है। इसी तरह कोंच तहसील क्षेत्र के क्रय केंद्रों कोंच, तीतरा, कैलिया, नदीगांव, मड़ोरी के लिए अधिशाषी अभियंता बेतवा नहर प्रखंड प्रथम इं. पीके गुप्ता तथा जालौन में खोले गये क्रय केंद्रों का जांच अधिकारी अधिशाषी अभियंता निर्माण खंड प्रथम लोनिवि इं. एके गर्ग को बनाया गया है। ग्राम पंचायत कुठौंद, हदरुख, सिरसा कलार, मदारीपुर, बाबई, न्यामतपुर के लिए भूमि संरक्षण अधिकारी इं. ओपी यादव, एट, पहाड़गांव, कैथेरी व उरई में खोले गये क्रय केंद्रों का जांच अधिकारी अधिशाषी अभियंता लघु सिंचाई सवतार राम को तथा आटा, कुसमरा के क्रय केंद्रों की जांच करने का जिम्मा जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी आरके गुप्ता को सौंपा गया है।