झाँसी GRP पुलिस बसूली में मस्त, यात्री खतरे में…

0
267

झांसी: रेलवे स्टेशन पर प्रीपेड बूथ के नाम पर जीआरपी पुलिस इन दिनो भव्य वसूली करने में जुटी हुई है। निर्धारित दो रूपए की जगह टैक्सी चालकों से पांच रूपए लिए जा रहे है। जिसके एवज में उन्हें पर्ची भी काटकर नहीं दी जा रही है। ऐसे में आम जनता,यात्रियों को प्रीपेड बूथ पर मिलने वाली सुविधाओं के नाम पर भी परेशान किया जा रहा है। और यदि यात्रियों या पर्यटक के साथ कोई घटना घट जाती है हो उसका भी कोई प्रमाण न यात्री के पास न पर्यटक के पास इस अनदेखी पर स्टेशन प्रशासन पर भी सवाल उठ रहे है। झांसी स्टेशन पर आवाजाही करने वाले रेल यात्रियों को परेशान ना होना पड़े। इसके लिए प्रीपेड बूथ की व्यवस्था झांसी स्टेशन पर की गई है। लेकिन यहां पर जीआरपी पुलिस अपनी मनमानी कर रही है। जिसके चलते प्रीपेड बूथ के नाम पर सिर्फ वसूली की जा रही है। टैक्सी चालकों से पांच रूपए बारह घंटे के लिए जा रहे है। प्रीपेड बूथ के नाम पर लोहे का एक खोखा जीआरपी के बाहर रखबा दिया गया है। जो शो पीस बनकर रह गया है। खोखे की छत तक गायब है। ऐसे में ये बूथ और इस पर तैनात पुलिस कर्मी कितना लाभ आम जन को पहुंचा रहे है, ये आसानी से समझा जा सकता है। गौर करने वाली बात ये भी है कि ये सारा कुछ उस वक्त अंजाम दिया जा रहा है। जब जीआरपी थाने के सामने ही विभाग के आला अधिकारी बैठते है। इस कारण ये कह पाना बेहद मुश्किल है कि आला अधिकारियों को गुमराह किया जा रहा है या फिर जान बूझकर अनदेखी की जा रही है। जाहिर सी बात है जब तिपहिया वाहन चालकों से जबरन दो रूपए की जगह पांच रूपए लिए जाएंगे तो वह अपनी पूर्ति के लिए सवारियों की जेब पर ही चोट करेंगे।