जिला पंचायत अध्यक्ष समेत तीन को छह-छह माह की सजा

0
197

चित्रकूट। दलित उत्पीड़न के मामले में न्यायालय ने जिला पंचायत अध्यक्ष समेत तीन लोगों को छह-छह माह का कारावास व चार चार हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी। सजा के बाद अदालत में ही तीनों को जमानत भी दे दी गयी।

धर्मपाल पुत्र राम आसरे निवासी खरौंद कोतवाली कर्वी ने 16 जून 08 को रिपोर्ट दर्ज करायी थी। उसने कहा था कि उसकी पत्नी श्यामकली जिला पंचायत सदस्य है। 16 जून को प्रस्तावित जिला शिक्षा समिति की बैठक में वह आगे की तारीख बढ़वाने के लिए वह जिला पंचायत में गया। मोटर साइकिल से उतरते ही जिला पंचायत अध्यक्ष वीर सिंह, कीर्ति सिंह निवासी सपहा व संत राम निवासी परसौंजा ने उसे जाति सूचक गालियां देते हुए दौड़ा लिया और जान से मारने की धमकी दी। वह जान बचाकर गेट की तरफ भागा। तभी जिला पंचायत सदस्य प्रहलाद यादव आ गया और उसने जान बचायी। इस मामले में मंगलवार को त्वरित न्यायालय प्रथम के न्यायाधीश आनंद प्रकाश ने तीनों को दोषी मानते हुए चार अलग-अलग धाराओं में छह-छह माह की कैद और चार-चार हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनायी। सजा सुनाने के बाद न्यायालय ने तीनों को जमानत पर रिहा कर दिया।