जयन्ती पर याद किये गये संविधान निर्माता बाबा साहेब

0
97

झांसी। संविधान निर्माता डा. भीमराव अम्बेडकर को आज उनकी जयन्ती पर याद किया गया। इस दौरान हुयी गोष्ठियों में बाबा साहेब के बताये रास्ते पर चलने का आह्वान किया गया। इससे पूर्व प्रमुख चौराहों पर बाबा साहेब की प्रतिमाओं पर श्रद्धा सुमन अर्पित किये गये। कचहरी चौराहे पर प्रदेश के सेवायोजन मंत्री भगवती सागर ने बाबा साहेब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया।

यूनाईटेड बुन्देलखण्ड न्यूज पेपर्स असोसियेशन एवं सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के तत्वावधान में आयोजित चिन्तन संगोष्ठी व सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुये मुख्य अतिथि अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ओ.पी. अग्रवाल ने कहा कि डा. अम्बेडकर धर्म निरपेक्ष, लोकतांत्रिक भारतीय संविधान के प्रणेता रहे और उसी आधार पर हमारा देश चल रहा है। उन्होंने संविधान में प्रदत्त अधिकारों के बारे में जानकारी दी। विशिष्ट अतिथि उप निदेशक सूचना शिव प्रसाद भारती ने कहा कि संविधान में डा. अम्बेडकर ने ही प्रेस को आजादी का अधिकार दिया था। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रदीप कुमार मौर्य, कैलाशचन्द्र जैन, प्रणय श्रीवास्तव एडवोकेट, पंकज सक्सेना, सतीशचन्द्र श्रीवास्तव, लखनलाल बिलगैंया आदि ने विचार व्यक्त किये। इस दौरान जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष कैलाशनाथ श्रृंगीऋषि, सीताराम वर्मा, नरोत्तम स्वामी, रघुवीर शरण बबेले व सीताराम कमरया आदि को सम्मानित किया गया। अध्यक्षता लॉयन्स क्लब के केबिनेट सेक्रेटरी राजीव बब्बर ने की। संचालन हरेन्द्र सक्सेना ने किया। अपर जिला सूचना अधिकारी धनीराम वर्मा व असोसियेशन के अध्यक्ष हरिनारायण विद्रोही ने आभार व्यक्त किया।

-डा. भीमराव अम्बेडकर महासभा के तत्वावधान में मण्डल अध्यक्ष जे.पी. आनन्द की अध्यक्षता में हुयी गोष्ठी में कहा गया कि आज बाबा के लोग बाबा की मूर्तियों पर माला डालकर उनकी विचारधारा पर ताला डालते नजर आ रहे है। बाबा साहेब ने सत्ता की आवश्यकता बहुजन समाज के सम्यक उद्धार के लिये बतायी थी, न कि व्यक्तिगत स्वार्थपूर्ति और विलासिता हेतु। गोष्ठी में विजय कुमार कुशवाहा, कालीचरण कुशवाहा, प्रागीलाल राजन आदि ने विचार व्यक्त किये। संचालन जितेन्द्र कुशवाहा ने किया। रेलवे की सामाजिक कल्याण खेलकूद समिति में श्रीमती गोरा देवी, अनुसूचित जाति जनजाति कर्मचारी असोसियेशन भेल में कार्यपालक निदेशक विश्वनाथन अय्यर के मुख्य आतिथ्य, हरदयाल बैदया की अध्यक्षता व हरवंशलाल के संचालन, बुन्देलखण्ड साहित्य संगीत कला संस्थान में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष रवीश त्रिपाठी के मुख्य आतिथ्य व महेश उपाध्याय की अध्यक्षता, यूथ वेलफेयर सोसायटी में प्रान्तीय सचिव मुकेश सिंघल, जिला अधिवक्ता संघ में उदय राजपूत एडवोकेट, भारतीय बौद्ध महासभा में डा. आर.एस. राज के मुख्य आतिथ्य व डा. भागीरथ अम्बेडकर की अध्यक्षता, धानुक बरार समिति में काशीराम टिकरिया, बामसेफ में महेन्द्र भारती, उत्तर मध्य रेलवे कर्मचारी संघ में यक्षेश सनोरिया, उत्तर प्रदेश वाल्मीक समाज कल्याण समिति में राजेन्द्र प्रसाद, सबेरा शहरी व ग्रामीण समाजसेवी संस्था व दलित अधिकार मंच में अजय कुमार चौधरी, रेलवे की ऑल इण्डिया अनुसूचित जाति जनजाति इम्प्लाई़ज असोसियेशन में गोविन्ददास, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी में लक्ष्मण सिंह परिहार, स्व. मानिकलाल मनके स्मृति शिक्षा प्रसार समिति में बी.एल. भास्कर, पंचशील शिक्षा प्रसार समिति में एम.डी. वर्मा, बुन्देलखण्ड सेवा संस्थान एवं अन्जुमन इत्तिहादे कौम में नश्तर भारती, विकास संग्राम समिति में राजेन्द्र कुमार सक्सेना, अखिल भारतीय अन्य पिछड़ा वर्ग संगठन रेल कर्मचारी मण्डल ओ.बी.सी. में विद्यालाल यादव व बसपा में पूर्व पार्षद सुरेशचन्द्र गोपी की अध्यक्षता में हुयी संगोष्ठियों में बाबा साहेब के जीवन पर प्रकाश डालते हुये उनके आदर्शो को अपनाने पर बल दिया गया।

NO COMMENTS